ब्लैक सैटर-डे:माता-पिता कर रहे थे धनरोपनी, मेढ़ पर बैठे चचेरे भाई- बहन देख रहे थे खेती, तभी वज्रपात से दोनों की मौत

दारू3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बेहोशी की हालत में बच्चों अस्पताल ले जाते पिता। - Dainik Bhaskar
बेहोशी की हालत में बच्चों अस्पताल ले जाते पिता।
  • वज्रपात से दारू में चचेरे भाई-बहन और केरेडारी में महिला की मौत हो गई।
  • चौपारण में ट्रक पलटने से ड्राइवर-खलासी की जान चली गई।
  • शहर में डाली गिरने से बाइक सवार की मौत हो गई। विष्णुगढ़ में कुएं में शव मिला।

मुफ्फसिल थाना क्षेत्र अंतर्गत अमनारी पंचायत के शेखा गांव में वज्रपात से चचेरे भाई-बहन की मौत हो गई। मृतक बच्चों में रूबी कुमारी उम्र 15 वर्ष पिता दिलीप यादव एवं अनीश कुमार यादव उम्र 8 वर्ष पिता सोनू कुमार यादव हैं। यह घटना शनिवार दोपहर की है। घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार दिलीप कुमार यादव पत्नी व बड़ा पुत्र अपने गांव के बगल गांव डंडई में धान रोपाई कर रहे थे।

जिस खेत में धान की रोपाई कार्य हो रहा था उसी खेत के मेढ़ पर दोनों बच्चे बैठे हुए थे। शनिवार के करीब दो बजे दोपहर में अचानक वज्रपात हुई इससे दोनों बच्चे वहीं मूर्च्छित होकर गिर पड़े। धान रोप रहे दिलीप यादव की पत्नी व बड़ा बेटा ने हल्ला करने लगे। इसे सुन डंडई गांव के लोग एवं पंचायत मुखिया दौड़कर घटना स्थल पर पहुंचे। जहां तुरंत दोनों बच्चों को सदर अस्पताल ले गए।

जहां डॉक्टर ने दोनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया। मुखिया अनूप कुमार ने इसकी जानकारी सीओ राजेश कुमार एवं मुफ्फसिल थाना प्रभारी बजरंगी महतो को सूचना दी। सीओ राजेश कुमार ने बच्चों का पोस्टमार्टम करवाने की सलाह दी एवं नियमसंगत सरकारी सुविधा उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। दोनों मृत बच्चों का अंतिम संस्कार शनिवार के शाम को ही गांव के श्मशान घाट में कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...