हादसा:इचाक में सड़क हादसा, जीएम कॉलेज के संस्थापक और उनके चाचा की मौत, किसानों में लोकप्रिय थे घनश्याम

ईचाक/ हजारीबाग2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

एनएच 33 ईचाक मोड यादव लाइन होटल के समीप रविवार को दोपहर में हुई सड़क हादसा में जीएम कॉलेज के संस्थापक घनश्याम प्रसाद मेहता और उनके चाचा विजूली महतो की मौत हो गई। इनके आकस्मिक निधन से इचाक वासियों में शोक की लहर दौड़ गई। वे इको विकास समिति, लैंप्स पैक्स स्वावलंबी समिति, जन वितरण डीलर संघ, इफको खाद समिति समेत अन्य कई समितियों मे रह चुके थे। इन संस्थानों से जुड़े सदस्यों ने उनके मौत पर गहरी संवेदना व्यक्त की है।

लोगों ने कहा कि स्वर्गीय घनश्याम प्रसाद मेहता किसानों के हमदर्द थे वे अपनी जुझारू और कर्मठता के बल पर किसानों के लिए समय-समय पर खाद, बीज, दवा आदि को उपलब्ध करा कर उनके बीच अलग पहचान बनाए थे। पर्यावरण प्रेमी स्वर्गीय मेहता अपने निजी जमीन पर हजारों फलदार और औषधीय पौधों को लगाकर यह साबित कर दिया था कि पर्यावरण के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती। उनके मौत पर विधायक अमित कुमार यादव, पूर्व विधायक जानकी प्रसाद यादव, पूर्व जिप सदस्य उमेश प्रसाद मेहता, पूर्व मुखिया डेगनारायण प्रसाद मेहता ,झामुमो के वरिष्ठ नेता मनोहर राम, डीलर संघ के विनोद कुमार समेत अन्य लोगों ने गहरी संवेदना व्यक्त की है।

खबरें और भी हैं...