कुशल व्यवहार:राज्य के मंत्रियों का बानादाग साइडिंग पर हो सकता है आगमन, आंदोलन जारी, ट्रांसपोर्टिंग कार्य ठप

कटकमदाग10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रखंड के बानादाग साइडिंग को लेकर रैयत व ग्रामीणों के चल रहे धरना-प्रदर्शन स्थल पर झारखंड सरकार के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव, कृषि मंत्री बादल पत्रलेख व कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर सहित अन्य नेताओं का 9, 10 अक्टूबर को आगमन होने की सूचना है। महा आंदोलन पर बैठे रैयतों को टेलीफोन से हजारीबाग के पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता और कांग्रेस नेता जयशंकर पाठक के माध्यम से सूचना उपलब्ध कराई गई है।

महाआंदोलन में सैकड़ों रैयत गुरुवार को तीसरे दिन भी कुसुम्भा स्थित साइडिंग के विरोध में एनटीपीसी व उसकी सहयोगी कंपनी के विरोध में प्रदर्शन सभा की। ट्रांसपोर्टिंग कार्य पूरी तरह ठप रहा। जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता ने कहा कि रैयत, विस्थापित, प्रभावित की मांगे जायज है।

बानादाग साइडिंग से कोयला ट्रांसपोर्टिंग पूरी तरह से प्रभावित है। देश के बड़े शहर को कोयला के अभाव में बिजली नहीं मिलेगी, जिससे कई उद्योग और शहर में अंधेरा छायेगा। कांग्रेस नेता जयशंकर पाठक ने कहा कि बांका, कटकमदाग, बानादाग और कुसुंभा के रैयत के समर्थन में राज्य के वित्त मंत्री सहित झारखंड सरकार पक्ष में है। रैयतों के साथ झारखंड सरकार ने कुशल व्यवहार करने का आदेश दिया है।

समाजसेवी मुन्ना सिंह ने कहा कि बानादाग साइडिंग से पीड़ित रैयतों की मांगे जायज है। मांगे पूरी नहीं होने तक आंदोलन जारी रहेगी। सभा को कांग्रेस जिलाध्यक्ष अवधेश सिंह, वीरेंद्र सिंह, सुनील ओझा, सुधीर पांडेय, निशांत कुशवाहा, मुखिया उदय साव, प्रमोद कुमार, अजय कुमार, मिथुन कुमार, सुदेश कुमार, चंदन कुमार, प्रकाश यादव, वीरेंद्र यादव, अजय यादव, रंजीत यादव, अरूण यादव, सुधीर कुमार, मोहन राम, राजू राम, उपेंद्र कुमार, विशाल कुमार, मुकेश प्रजापति, सुनील प्रजापति, पार्वती देवी, आशा देवी, सुगिया देवी सहित अन्य ने संबोधित किया।

खबरें और भी हैं...