पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समाज का अभिन्न अंग:दि आर्ट ऑफ लिविंग ने किन्नरों की सुध ली, शास्त्रों में इन्हें उप देवता की संज्ञा दी गई

हजारीबाग25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मौके पर योग प्रशिक्षक तारकेश्वर सोनी ने कहा कि किन्नर हमारे समाज का अभिन्न अंग

दि आर्ट ऑफ लिविंग हजारीबाग की टीम ने मिशन जिंदगी के तहत किन्नरों से मुलाकात कर उन्हें आयुर्वेदिक दवाई कबासुर कुडिनीर, तुलसी ड्राॅप, टेबलेट एक्सीटोन, आयुराॅन सीरप के साथ साड़ियां, पैंट-शर्ट, फल, मिठाइयां और नकद राशि भेंट किया। मौके पर योग प्रशिक्षक तारकेश्वर सोनी ने कहा कि किन्नर हमारे समाज का अभिन्न अंग हैं।

शास्त्रों में इन्हें उप देवता की संज्ञा दी गई है। यक्ष गंधर्व के समान ये पूजनीय हैं। रामायण और महाभारत में इनका बहुत बार उल्लेख है। धर्म की रक्षा में इन्होंने योगदान दिया है। हर महिला और पुरुष के समान समाज में इनका भी सम्मान और अधिकार होना चाहिए।कार्यक्रम को सफल बनाने में योग प्रशिक्षक तारकेश्वर सोनी के नेतृत्व में डाॅक्टर अविनाश कुमार मिश्रा,गीता अग्रवाल,दिलीप कुमार गुप्ता, निशांत सिन्हा ने अपना योगदान दिया।

खबरें और भी हैं...