पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जीता जागता उदाहरण:केंद्र ने की नीट परीक्षा में ओबीसी कोटे की अनेदखी, 2017 से जो पिछड़ों की सीटें हैं उसे काट कर वह सामान्य वर्ग को दी जा रही

हजारीबाग17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • केंद्र में बीजेपी सरकार का आरक्षण को लेकर जो भूमिका होनी चाहिए वह नहीं दिख रही

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग झारखंड प्रदेश के सचिव शानुल हक़ ने प्रेस में बयान जारी करते हुए कहा कि केंद्र में बीजेपी सरकार का आरक्षण को लेकर जो भूमिका होनी चाहिए वह नहीं दिख रही है। इसका जीता जागता उदाहरण है एनईईटी में पिछड़ों के रिजर्वेशन को काट कर जनरल में परिवर्तित करना।

हालांकि केंद्र सरकार के मंत्रिमंडल फेरबदल में 27 लोगों को पिछड़ी जाति से कैबिनेट में शामिल करने से ऐसा लग रहा था कि केंद्र सरकार आरक्षण को लेकर यह सरकार अतिरिक्त उत्साह दिखाने की कोशिश करेगी मगर ऐसा नहीं हुआ। 2017 से जो पिछड़ों की सीटें हैं उसे काट कर वह सामान्य वर्ग को दी जा रही हैं जिसमें करीब 10 हजार पिछड़ों की सीटें सामान्य वर्ग को दे दी गई, लेकिन इस बार यह उम्मीद थी कि जिस तरह 27 लोगों को कैबिनेट में शामिल किया गया तो ऐसा लग रहा था कि पुरानी गलती को नहीं दोहराया जाएगा, मगर फिर इस बार वही बात दोहराई गई और शिक्षा मंत्री ने बिना आरक्षित सीटों की घोषणा किए नीट एग्जाम की तारीख की घोषणा कर दी। cएनईईटी में पिछड़ों के रिजर्वेशन को काट कर जनरल में परिवर्तित करना।।

खबरें और भी हैं...