कोरोना से जंग / एचएमसीएच में लगी ट्रूनेट मशीन, 1 घंटे में 2 रिपोर्ट

Trunet machine installed in HMCH, 2 reports in 1 hour
X
Trunet machine installed in HMCH, 2 reports in 1 hour

  • प्रसव के लिए भर्ती महिलाओं का एक घंटे में प्राप्त हो जाएगी कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट
  • अब जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी उन्हीं का स्वाब सैंपल जांच के लिए भेजा जाएगा लैब

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

हजारीबाग. हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोविड-19 जांच के लिए शनिवार को ट्रूनेट मशीन लगाई गई। इसके संचालन के लिए लैब टेक्नीशियन को भी प्रशिक्षण दिया गया है स्टेबल होते ही यह मशीन का उपयोग शुरू हो जाएगा।इसकी जानकारी स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बातचीत के दौरान दैनिक भास्कर को दी थी कि हजारीबाग में बहुत जल्द ट्रू नेट मशीन लगाई जाएगी। राज्य के 15 जिलों में यह मशीन लगाई जा रही है। जिनमें पश्चिमी सिंहभूम, पलामू, लातेहार, कोडरमा, चतरा, बोकारो, देवघर, गोड्डा, पाकुड़, रांची, गिरिडीह, गढ़वा, दुमका, साहिबगंज और हजारीबाग शामिल है। एचएमसीएच अस्पताल में इस मशीन को लगाए जाने की जानकारी उपायुक्त डॉ भुवनेश प्रताप सिंह ने शनिवार को प्रेस वार्ता में भी दी। इस मशीन की क्षमता 24 घंटे में 40 सैंपल का रिजल्ट देने का है। बताया गया कि एक घंटे में दो सैंपल का रिजल्ट यह दे सकेगा। इस मशीन को ट्रामा सेंटर के सामने मलेरिया ऑफिस के भवन में स्थापित किया गया है । इसके नोडल पदाधिकारी हजारीबाग के प्रभारी सिविल सर्जन डॉक्टर संजय जायसवाल को बनाया गया है।
इस मशीन को लग जाने के बाद अब यहां प्रसव के लिए भर्ती होने वाली गर्भवती महिलाओं का सिजेरियन या फिर नार्मल प्रसव कराने में जुटे चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड-19 से संक्रमित होने का भय समाप्त हो जाएगा वही संदिग्ध मौत के बाद जांच के इंतजार में कई दिनों तक मुर्दा घर में शव पड़े होने की समस्या भी समाप्त हो जाएगी ।अब प्रसव के लिए भर्ती होने वाली महिलाओं का सैंपल लिया जाएगा। ट्रूनेट मशीन से जांच होगी एक घंटे में रिपोर्ट आएगा।  अगर पॉजिटिव आया तो फिर पीपीई कीट से लैस होकर उनका प्रसव कराया जाएगा, वहीं किसी व्यक्ति की मौत हो जाती है और वह कोविड-19 संदिग्ध माना जाता है तो एक घंटे के भीतर हजारीबाग में ही उसके सैंपल का जांच हो जाएगा और अगर पॉजिटिव पाया गया तो फिर सरकारी गाइडलाइन के मुताबिक उसके शव को डिस्पोजल किया जाएगा तथा निगेटिव पाए जाने पर उसके परिजन को सौंप दिया जाएगा। बताया गया कि अब संदिग्ध लोगों के कलेक्ट किए गए सैंपल को सीधे लैब नहीं भेजा जाएगा। पहले उनके सैंपल की जांच हजारीबाग के ट्रूनेट मशीन से होगी। जिनका रिपोर्ट यहां पॉजिटिव पाया जाएगा उनका सैंपल ही लैब भेजा जाएगा ।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना