पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बुजूर्ग दंपति की पथराई आंखें पूछ रही है:आखिर कौन सी बीमारी है डॉक्टर भी नहीं पकड़ पा रहे, और बारी बारी से सब छोड़ रहे हैं साथ

कांडी17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अपार दुख- कांडी के भंडरिया में अज्ञात बीमारी से एक ही परिवार के 3 संतानों की मौत से बिखरा परिवार, नान्हू की दो बेटी और एक बेटे की मौत से शोक

थाना क्षेत्र के भंडरिया गांव में पिछले छह दिनों के अंदर दो बेटी व एक बेटा को खो देने वाले बुजूर्ग नान्हू रजवार का परिवार पूर्ण रूप से बिखर गया। मंगलवार की शाम 5 बजे 20 वर्षीय बेटा राम दहिन रजवार की भी मौत इलाज के क्रम में रिम्स रांची में हो गई। इससे पूर्व गुरुवार को बड़ी बेटी 18 वर्षीया शर्मिला कुमारी की मौत घर पर हो गयी थी। जबकि सोमवार की रात इलाज के क्रम में सदर अस्पताल गढ़वा में दूसरी बेटी 16 वर्षीया निर्मला कुमारी की मौत हो गयी थी।

मंगलवार को शाम में निर्मला के अंतिम संस्कार की ग्रामीण तैयारी कर रहे थे कि सूचना मिली कि बेटा राम दहिंन की भी रिम्स में शाम पांच बजे मौत हो गयी। इस प्रकार भंडरिया गांव निवासी नान्हू रजवार के परिवार में पांच सदस्यों को एक साथ पूरे शरीर में सूजन हो जाने के बाद इलाज के दौरान परिवार के तीसरे सदस्य रामदहिन रजवार 20 वर्ष की भी मौत हो गई। इस परिवार पर विपत्तियों का पहाड़ टूट पड़ा है। वृद्ध माता पिता सबसे ज्यादा इस चिंता में घुले जा रहे हैं कि आखिर क्या हुआ। कौन सी बीमारी ने उनके घर के 3 - 3 चिरागों को एक साथ बुझा दिया। इस सवाल का उन्होंने मझिआंव अस्पताल से लेकर सुबे के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स रांची में भी जवाब ढूंढने की कोशिश की। लेकिन नाकाम रहे। किसी ने उन्हें नहीं बताया कि आखिर उन लोगों को हुआ क्या है। क्यों बारी-बारी से सब साथ छोड़ कर जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...