पोस्टिंग:कांडी अस्पताल में नहीं हैं डॉक्टर, संकट में है जान

कांडी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • उन्होंने कहा कि डॉ प्रदीप मरांडी की पोस्टिंग दूसरे जगह हो गई

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य के मुखियाओं से बात करने के कार्यक्रम का कांडी प्रखंड के मुखियाओं ने भी देखा और सुना। इस दौरान सभी जिलों के पंचायत प्रतिनिधियों ने अपनी समस्या मुख्यमंत्री के सामने रखी। कांडी पंचायत के निवर्तमान मुखिया व कार्यकारी समिति के प्रधान विनोद प्रसाद ने कहा कि इस कोरोना संकट के कारण उत्पन्न राष्ट्रीय स्तर की महामारी के दौरान कांडी अस्पताल में एक भी डॉक्टर नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि डॉ प्रदीप मरांडी की पोस्टिंग दूसरे जगह हो गई। जबकि डॉक्टर गोविंद सेठ को तीन प्रखंडों कांडी, बरडीहा व मझिआंव का प्रभारी प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी बना दिया गया। जबकि डॉ एसपी सिन्हा खुद बीमार रहने के कारण अस्पताल नहीं आ पा रहे हैं। ऐसी स्थिति में कांडी प्रखंड की एक लाख की आबादी और पड़ोसी प्रखंडों की करीब 25 - 30 हजार की आबादी कांडी अस्पताल पर ही निर्भर है। बावजूद इसके उनके बीमार होने पर इस अस्पताल में एक भी डॉक्टर उपलब्ध नहीं हैं मुखिया ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, गढ़वा जिला के उपायुक्त राजेश कुमार पाठक व जिला के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी सिविल सर्जन डॉ कमलेश कुमार से तत्काल कांडी अस्पताल में डॉक्टरों की पोस्टिंग की मांग की है। उन्होंने कहा है कि संभवत: कांडी प्रखंड झारखंड का एकलौता प्रखंड होगा। जहां प्रखंड स्तरीय अस्पताल बिना डॉक्टर के ही चल रहा है।

खबरें और भी हैं...