पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नियोजन नियमावली:क्षेत्रीय भाषाओं को हटा कर पलामू के छात्रों के साथ अन्याय

कांडी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

संगत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बैनर तले दर्जनों अभाविप कार्यकर्ताओं द्वारा जमा दो उच्च विद्यालय के प्रागंण में हिन्दी दिवस पर नियोजन नियमावली में हिन्दी, मगही व भोजपुरी को क्षेत्रीय भाषा में जगह नहीं दिये जाने का काला बिल्ला लगाकर विरोध किया गया। नियोजन नियमावली का कड़ा विरोध करते हुए नगर सह मंत्री प्रिन्स कुमार सिंह ने कहा कि सत्तासीन हेमंत सोरेन की सरकार के द्वारा लिए गए फैसले का अभाविप घोर निंदा करती है।

प्रिन्स ने कहा कि खास कर पलामू प्रमण्डल के आम जनमानस की भाषा हिंदी है। यहा के विद्यार्थी अपनी पढ़ाई में भी भाषा के पेपर में हिन्दी का ही चयन करते हैं और पढ़ते हैं। लेकिन राज्य में सत्तासीन हेमंत सोरेन की सरकार द्वारा नियोजन नियमावली में क्षेत्रीय भाषा के तौर पर हिन्दी को हटा देना खास कर पलामू प्रमण्डल के युवाओं के लिए बेहद दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है।

वहीं अभाविप कांडी के प्रखंड संयोजक साकेत मिश्र ने कहा हिंदी हमारी राजभाषा है और संविधान सभा ने हिंदी को राजभाषा की मान्यता दी है। हमें राष्ट्र की राजभाषा हिंदी के अलावा किसी दूसरी भाषा को जानना या पढ़ना जरूरी नही है। क्षेत्रीय भाषा को जानना और पढ़ना चाहिए। ।इस मौके पर प्रिंस कुमार सिंह, प्रखंड कार्यकारिणी सदस्य लक्की कुमार, कार्यालय मंत्री पंकज कुमार व सदस्य शनि कुमार, रिशू कुमार आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...