पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अन्याय किए जाने का विरोध:मच्छरदानी लेने 12 किमी दूर बलियारी से कांडी आए लोग, भूल गए सोशल डिस्टेसिंग

कांडी7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। सरकार तीसरी लहर से निपटने के लिए जी जान से जुटी् हुई है, लेकिन शायद प्रखंड के अधिकारियों को इसकी परवाह नहीं है। बलियारी पंचायत के गरीब गुरबा लोगों को 10 से 12 किलोमीटर की दूरी तय कर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कांडी में मछरदानी के लिए बुला लिया गया। जबकि कांडी पीएचसी में बुधवार को कोरोना वैक्सीन लेने वालों की भी भीड़ लगी थी। बुधवार को सैकड़ों की संख्या में लोग बलियारी पंचायत के विभिन्न गांव से कांडी पहुंच गए।

जबकि बलियारी गांव में ही पंचायत भवन या स्वास्थ्य उप केंद्र में मच्छरदानी का वितरण किया जा सकता था। मच्छरदानी वितरण के नाम पर सैकड़ों लोगों को कांडी बुलाकर उन्हें बेवजह परेशान किया गया। कोरोना को दावत दिया गया। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष रामलाला दुबे ने मच्छरदानी वितरण के नाम पर गरीबों के साथ घोर अन्याय किए जाने का विरोध किया है। मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी सिविल सर्जन डॉ कमलेश कुमार से मांग की है कि बलियारी स्थित स्वास्थ्य उप केंद्र में मच्छरदानी का वितरण किया जाए।

खबरें और भी हैं...