• Hindi News
  • National
  • Player Who Played Hockey World Cup Lived By Breaking Stones, Died In Ranchi

हॉकी हॉकी वर्ल्ड कप खेल चुके गोपाल भेंगरा का निधन:हॉकी विश्वकप खेल चुके खिलाड़ी ने पत्थर तोड़ किया गुजारा, रांची में निधन

खूंटीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गोपाल भेंगरा - Dainik Bhaskar
गोपाल भेंगरा

1978 में अर्जेंटीना हॉकी वर्ल्ड कप खेल चुके गोपाल भेंगरा ने सोमवार की सुबह रांची के गुरुनानक अस्पताल में अंतिम सांसें लीं। वे 70 साल के थे। तोरपा स्थित उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया। फौज में रहे गोपाल हॉकी के अच्छे खिलाड़ी थे। 78 में फौज से रिटायर हो गए थे।

इसके बाद गांव लौटकर उन्होंने जिंदगी की नई शुरुआत की। सुरक्षा गार्ड की नौकरी के लिए आवेदन दिया, पर कहीं भी उनका चयन नहीं हुआ। जीवन के अंतिम दिनों में गोपाल भेंगरा को पत्थर तोड़कर आजीविका चलानी पड़ी थी। इसके एवज रोज उन्हें महज 40-50 रुपए कमाई होती थी।

70 साल की उम्र में गोपाल भेंगरा ने ली अंतिम सांस

गोपाल भेंगरा के साथ खेल चुके अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी सुशील तोपनो ने बताया कि वे गुस्सैल थे। आर्मी में एएससी सप्लाई कोर टीम से खेलते थे। गोपाल के खेल में पावर ज्यादा थी। विपक्षी खिलाड़ी उनके सामने आने से घबराते थे। 1978 में वे रिटायर हो गए।

वे कुछ साल पश्चिम बंगाल के मोहन बागान से फुटबॉल भी खेले। रिटायर होने पर सरकार खिलाड़ियों का उपयोग नहीं कर पाती और एक अच्छे खिलाड़ी का अंत बुरा होता है।

अंतिम दिनों में पत्थरों को दिया आकार
गोपाल को क्रिकेटर सुनील गावस्कर 7500 रुपए हर माह सहयोग राशि देते थे। अंतिम दिनों में काम नहीं मिला तो पत्थर तोड़कर आकार देने का काम किया।

खबरें और भी हैं...