पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धर्म:अभिषेक व शांति धारा के बाद 44 श्रीफल अर्पित

कोडरमा7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जैन धर्म के चंद्रप्रभु भगवान व पारसनाथ भगवान का कल्याणक जन्म तप धूमधाम से मनाया गया

श्री दिगंबर जैन समाज की ओर से शनिवार को तीन लोक के नाथ जैन धर्म के 8वें तीर्थंकर 1008 श्री चंद्रप्रभु भगवान व 23वें तीर्थंकर देवाधिदेव 1008 पारसनाथ भगवान एक साथ दो कल्याणक जन्म तप कल्याणक धूमधाम से दोनों मंदिर में मनाया गया। कार्यक्रम श्री दिगंबर जैन समाज के नेतृत्व में परम पूज्य शिरोमणि आचार्य श्री 108 विशुद्ध सागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य मुनि श्री 108 प्रशम सागर जी मुनि महाराज, मुनि 108 सुयश सागर जी मुनि महाराज, मुनि 108 अरिजीत सागर जी मुनिमहाराज,108 मुनि श्री 108 प्रणव सागर जी मुनि महाराज के सानिध्य में मनाया गया।

कार्यक्रम में सर्वप्रथम सुबह जैन मंदिर में मूल वेदी में विराजमान 1008 पार्श्वनाथ भगवान की भव्य प्रतिमा पर प्रथम अभिषेक व शांति धारा का सौभाग्य सुरेश नरेंद जैन झांझरी ने किया। वहीं 1008 श्री चन्द्रप्रभु भगवान की प्रतिमा पर अभिषेक सुरेश झांझरी, मंत्री ललित जैन, सरोज जैन, कमल जैन के साथ अजित जैन परिवार को शांतिधारा का सौभाग्य मिला। तत्पश्चात भक्तों ने नियम के साथ अभिषेक किया। अभिषेक के बाद चंद्र प्रभु की प्रतिमा, पार्श्व नाथ भगवान की प्रतिमा अध्यक्ष विमल जैन के द्वारा श्री विहार कर सरस्वती भवन में लाया गया, जहां विश्व शांति महायज्ञ कल्याण मन्दिर विधान का आयोजन किया गया। जिसमें समाज की ओर से 44 श्रीफल के द्वारा अर्घ प्रभु के चरणों में समर्पित किया गया।

समाज के द्वारा परम पूज्य मुनि श्री 108 अरिजीत सागर जी महाराज का जन्म दिवस धूमधाम से मनाया गया। मौके पर प्रदीप मीरा छाबड़ा ने गुरुवर का पाद प्रक्षालन और जैन युवक समिति के युवाओं द्वारा शास्त्र भेट किया गया। मौके पर पूज्य मुनि श्री प्रशम सागर जी ने कहा की भगवान का जन्म कल्याणक का मतलब है कि जो अपने कल्याण के मार्ग में अग्रसर हो गए हैं और जो जन्म मरण से रहित होकर मोक्ष को प्राप्त हो गए है एवं उनकी आत्मा से रहित हो अपनी आत्मा में लीन होकर परमात्मा होने वाले हैं, वैसे सभी 24 तीर्थंकर का कल्याणक जैन समाज बहुत धूमधाम से मनाता है। उन्होंने कहा कि आज से कई हजार वर्ष पूर्व बनारस नगरी में दोनों भगवान का जन्म कल्याणक हुआ था, तब से पूरे भारत के लोग भगवान का जन्म कल्याणक मना रहे हैं। वहीं शाम में पालना झुलाने के साथ 44 दीपक द्वारा कल्याण मंत्र पढ़कर एक एक दीपक प्रभु के चरणों में अर्पित किया गया। रविवार को नया जैन मंदिर में 64 रिद्धि विधान कार्यक्रम का आयोजन सुबह 6 बजे से अभिषेक व शांतिधारा के साथ होगा। यह जानकारी मीडिया प्रभारी राज अजमेरा व नवीन जैन ने दी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser