रोजगार सृजन:पीएम रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना, प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के अलावा अन्य योजनाओं पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई

कोडरमा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला स्तरीय परामर्शदात्री समिति की बैठक

उपायुक्त आदित्य रंजन की अध्यक्षता में जिला स्तरीय परामर्शदात्री समिति की बैठक बुधवार को समाहरणालय सभागार में हुई। बैठक में विभिन्न बैंकों के शाख-जमा अनुपात वृद्धि, केसीसी ऋण की उपलब्धि, स्वयं सहायता समूह, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, जेएसएलपीएस व कृषि ऋण संबंधी उपलब्धियां, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना, प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के अलावा अन्य योजनाओं पर विस्तृत रुप से चर्चा की गयी।

मौके पर जिला अग्रणी प्रबंधक महेश प्रसाद ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में वार्षिक ऋण योजना में जून 2021 तक उपलब्धि 18.83 प्रतिशत है। वहीं ऋण जमा अनुपात 32.77 प्रतिशत है। पिछले बैठक में लिये गये निर्णय के अनुसार बैंकों द्वारा चालू तिमाही में ऋण की वृद्धि की गयी है, लेकिन ऋण जमा अनुपात में गिरावट दर्ज की गयी है। मौके पर उपायुक्त रंजन ने ऋण जमा अनुपात में गिरावट पर नाराजगी व्यक्त किया। उन्होंने केसीसी उपलब्ध कराने के संबंध में समीक्षा करते हुए सभी बैंकों को केसीसी से संबंधित प्राप्त आवेदनों पर त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि बिना किसी कारण के आवेदनों को रिजेक्ट न करें। उन्होंने बैंकों के शाखा प्रबंधकों को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन व स्वयं सहायता समूहों को ऋण देने का निर्देश दिया। मौके पर सहायक महाप्रबंधक आरबीआई नलिन प्रियरंजन, डीडीएम नाबार्ड हरिदत्त पोद्दार, जिला समन्वयक एसबीआई सूरज कुमार अग्रवाल, उद्योग विस्तार पदाधिकारी सत्य नारायण प्रसाद सहित विभिन्न बैंकों के शाखा प्रबंधक मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...