जीएसटी भुगतान में भारी गड़बड़ी के मिले है संकेत:व्यवसायी के यहां छापेमारी के मामले में 18 तक लेनदेन से जुड़े कागजात प्रस्तुत करने का निर्देश

कोडरमाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जीएसटी भुगतान में भारी गड़बड़ी की शिकायत पर सोमवार को झुमरी तिलैया के राजगढ़िया रोड स्थित छड़ व सीमेंट के दुकान महालक्ष्मी ट्रेडर्स के यहां वाणिज्य कर विभाग की ओर से की गई छापेमारी में बड़े पैमाने पर कर चोरी के मामले प्रकाश में आए है।

राज्य कर उपायुक्त कंचन बरवा ने बताया कि छापेमारी के दौरान व्यवसायी की ओर से खरीद बिक्री से संबंधित अधिकांश कागजात व इनवॉयस प्रस्तुत नहीं किए गए है। जिसके निर्धारण को लेकर व्यवसायी को 18 दिसंबर को कागजात के साथ उपस्थित होने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि कर चोरी के मामले का निर्धारण पूरी कागजात के छानबीन के बाद ही बताई जा सकती है।

इधर, विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार व्यवसायी की ओर से प्रति साल लगभग 6 करोड़ रुपए के टर्नओवर किए जाने की बात सामने आई है। वहीं छापेमारी के दौरान जीएसटी के भुगतान को लेकर पदाधिकारियों की ओर से सामानों के बिक्री व कर के भुगतान को लेकर मांगे गए इंवॉस सहित अन्य जरूरी कागजात प्रस्तुत नहीं किए गए। वहीं व्यवसायी की ओर से नकद के रूप में कितनी राशि प्रतिमाह सामानों की बिक्री की गई है, इसका भी कागजात उपलब्ध नहीं कराया गया है।

इसके अलावा सामानों के बिक्री को लेकर प्रयोग किए गए वाहनो व इसके परमिट की जानकारी मांगे जाने पर भी पदाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत नहीं किया गया है। इसके अलावा बैंक से किए जाने वाले ट्रांजेक्शन का भी ब्योरा पदाधिकारी को प्राप्त नहीं हो सकी है। कुल मिलाकर व्यवसायी की ओर से बड़े पैमाने पर जीएसटी की चोरी किए जाने की बात सामने आई है।

मौके पर व्यवसायी की ओर से अधिकांश कागजात सीए के पास होने एवं इसे प्रस्तुत करने के लिए कुछ दिनो का समय देने का अनुरोध किया गया है। जीएसटी चोरी को लेकर जिले के कई अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठान भी विभाग के रडार पर है। जिसपर संयुक्त टीम की ओर से जल्द ही कुछ अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठानों पर छापेमारी की योजना तैयार की गई है।

खबरें और भी हैं...