पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निर्देश:जिला प्रशासन के निर्देश पर मेडिकल दुकानों की जांच, कालाबाजारी पर कार्रवाई का निर्देश

कोडरमाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दवाओं की उपलब्धता व कीमत के संबंध में दुकानदारों और ग्राहकों से टीम ने की पूछताछ

जिला प्रशासन के निर्देश पर अंचलाधिकारी अनिल कुमार के नेतृत्व में झुमरी तिलैया शहर में दवा व मेडिकल उपकरणों की कालाबाजारी के विरूद्ध गुरूवार को जांच अभियान चलाया गया। टीम में नगर परिषद के प्रशासक कौशलेश कुमार व थाना प्रभारी द्वारिका राम भी शामिल थे। जांच के क्रम में टीम ने शहर के मोहन स्टोर, लक्ष्मी फार्मा, अंशिका, बाबा मेडिकल व कुछ अन्य दुकानाें के अलावा गौरीशंकर मुहल्ला स्थित दवा के थोक विक्रेता के भी कई दुकानों में जांच की गई।

जांच के दौरान टीम द्वारा बेची जा रही दवा की उपलब्धता व इसकी कीमत के संबंध में दुकानदारों के अलावा ग्राहकों से पूछताछ की गई। वहीं थोक विक्रेताओं से भी दवा के स्टॉक व बिक्री दर के संबंध में जानकारी ली गई। इस संबंध में प्रशासक कौशलेश कुमार ने बताया कि जांच के क्रम में दुकानों में कोरोना के अलावा सर्दी, बुखार सहित अन्य आवश्यक दवाइयां उपलब्ध पायी गई। साथ ही जिले में इसकी फिलहाल कोई कमी नहीं होने की बात सामने आई। मौके पर ग्राहकों से दवा की ली जा रही कीमत के संबंध में भी पूछताछ की गई, जिसमें अधिक कीमत जैसी कोई शिकायत नहीं मिली। उन्होंने बताया कि दवा के थोक विक्रेताओं सहित कुछ रिटेल मेडिकल दुकानों द्वारा ऑक्सीमीटर सहित कुछ अन्य मेडिकल उपकरण व दवा पर डिस्काउंट दिए जाने की भी बात बताई गई। उन्होंने बताया कि दवा विक्रेताओं को आवश्यक दवाओं की कालाबाजारी नहीं करने व कृत्रिम अभाव नहीं दर्शाए जाने का सख्त निर्देश दिया गया। साथ ही ऐसा पाए जाने पर आपदा प्रबंधक एक्ट के तहत कार्रवाई करने की भी बात कही गई। उल्लेखनीय हो कि हाल के दिनो में कोरोना महामारी के मद्देनजर दवाओं व आवश्यक मेडिकल उपकरणों की बढ़ी मांग को लेकर कुछ दुकानदारों द्वारा इसका कृत्रिम अभाव बताकर अधिक कीमत लिए जाने की शिकायत मिल रही थी। ऐसी शिकायतों पर रोक को लेकर ही प्रशासन द्वारा संबंधित पदाधिकारियों को जांच के निर्देश दिए गए है।

खबरें और भी हैं...