पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आयोजन:अपने तरीके से आगे बढ़ने का मौका यह राष्ट्रीय शिक्षा नीति देती है : झा

कोडरमाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 की सम्भावनाओं व आशंकाओं पर एक दिवसीय ऑनलाइन राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

ग्रिजली काॅलेज ऑफ एजुकेशन व ग्रिजली विद्यालय की ओर से राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 की सम्भावनाओं व आशंकाओं पर एक दिवसीय ऑनलाइन राष्ट्रीय स्तर की संगोष्ठी का आयोजन रविवार को किया गया। मौके पर विनोवा भावे विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. मुकुल नारायण देव ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रति हम सभी को रचनात्मक आलोचना की प्रवृत्ति रखनी होगी। वहीं अपनी भाषा के विकास के साथ वैश्विक स्तर की भाषा से भी जुड़ना होगा। ऑनलाइन संगोष्ठी के संयोजक मोहित तिवारी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के प्रति आम जनमानस व शिक्षाविदों के मध्य सम्भावनाओं व आशंकाओं जैसे विषय चयन के औचित्य पर विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम के समन्वयक प्रो. सौरभ शर्मा ने प्रतिभागियों को मुख्य वक्ता डाॅ. अरविन्द कुमार झा के अन्तर्राष्ट्रीय व्यक्तित्व से परिचित कराया।

संगोष्ठी को संबोधित करते हुए बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर केन्द्रीय विश्वविद्यालय लखनऊ के शिक्षा शास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष सह अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त शिक्षाविद् डाॅ. अरविन्द कुमार झा ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति की सम्भावनाओं व आशंकाओं पर चर्चा करते हुए बताया कि लोकतंत्र में प्रत्येक व्यक्ति का शिक्षित होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि वे प्राथमिक शिक्षा को मातृभाषा में देने की बात के सशक्त समर्थक है। प्रत्येक मनुष्य को अपने तरीके से आगे बढ़ने का मौका यह राष्ट्रीय शिक्षा नीति देती है। उन्होंने प्रारम्भिक बाल्यकाल व शिक्षा से अपनी बात प्रारम्भ करके विद्यालयी शिक्षा व उच्च शिक्षा पर प्रकाश डालते हुए प्रतिभागियों के प्रश्नों का जवाब दिए। कार्यक्रम को सफल बनाने में महाविद्यालय के प्राध्यापक डाॅ. चौधरी प्रेम प्रकाश, मृदुला भगत, वागीश दुबे, रजनी बाला, केके सिंह, अजय गुप्ता, मनीष पासवान व ग्रिजली विद्यालय परिवार का सहयोग रहा।

ऑनलाइन वेबिनार में तकनीकी सहयोग नीरज कुमार व फिरदौस आलम ने निभाई। कार्यक्रम का ऑनलाइन संचालन आयोजन सचिव प्रो. सीएन झा ने किया। ऑनलाईन संगोष्ठी में 500 लोगों ने जूम ऐप , फेसबुक व यूट्यूब पर अपनी सहभागिता सुनिश्चित की। वहीं ऑनलाइन संगोष्ठी का प्रतिवेदन ग्रिजली विद्यालय के सीईओ प्रकाश गुप्ता ने प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के दौरान काॅलेज के निदेशक मनीष कपसिमे ने कुलपति डा. मुकुल नारायण देव को व अविनाश सेठ ने मुख्य वक्ता डाॅ. अरविन्द कुमार झा को ई-स्मृति चिन्ह भेंट किया। ऑनलाइन संगोष्ठी में शामिल अतिथियों, वक्ताओं व प्रतिभागियों के प्रति निदेशक अविनाश सेठ ने आभार व्यक्त किया। स्वागत भाषण देते हुए महाविद्यालय की प्राचार्या डाॅ. संजीता कुमारी ने कुलपति डाॅ. मुकुल नारायण देव का स्वागत ई-बुके देकर किया।

खबरें और भी हैं...