पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कुलपति ने कहा:पर्यावरण के प्रति जागरूक करने की दिशा में अनवरत प्रयास करें

कोडरमा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आइक्यूएसी प्रकोष्ठ जगन्नाथ जैन महाविद्यालय की ओर से अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस मनाया गया। मौके पर अतिथियों का स्वागत करते हुए आइक्यूएसी के समन्वयक डाॅ. अशोक अभिषेक ने कार्यक्रम का विषय प्रवेश कराया। कार्यक्रम दो चरणों में आयोजित की गई।

पहले चरण में महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने काफी बड़ी संख्या में पर्यावरण संबंधी विभिन्न प्रतियोगिताएं जैसे भाषण, कविता लेखन, स्लोगन लेखन प्रतियोगिता में शामिल हुए। मौके पर महाविद्यालय के बीएड प्रशिक्षणार्थियों सहित महाविद्यालय के अन्य संकाय व विभाग के सैकड़ों विद्यार्थियों ने स्वयं एक- एक पौधा लगाया और बड़ी संख्या में लोगों को पौधा लगाने व पर्यावरण के प्रति संरक्षण की भावना जागृत करने का कार्य किया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद विनोबा भावे विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. डॉ. मुकुल नारायण देव ने विद्यार्थियों के कार्य की प्रशंसा करते हुए उन्हें संदेश दिया कि वे अनवरत समाज को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने की दिशा में प्रयासरत रहें। उन्होंने वर्तमान प्रदूषण की समस्या को दूर करने में युवाओं की महती भूमिका पर प्रकाश डाला।

वहीं विशिष्ट अतिथि प्रति-कुलपति प्रो. डॉ. एके सिन्हा ने मौसम में परिवर्तन व इकोसिस्टम में आए असंतुलन पर विस्तार से प्रकाश डाला और अपने अनुभव को साझा करते हुए उन्होंने बताया की एक वक्त था जब सारंडा के जंगल में दिन के 2 बजे भी 5 सेल के टॉर्च लेकर जाना पड़ता था, किंतु अब पेड़ों के कटनी से यह जंगल भी वीरान सा हो गया है।

उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद विद्यार्थियों को उनकी नैतिक जिम्मेवारी का एहसास कराते हुए उन्हें भविष्य को संवारने की जवाबदेही लेने के लिए प्रेरित किया। डॉ गोपाल मिश्र ने निरंतर मानव जनसंख्या के बढ़ोतरी से पर्यावरण पर पड़ने वाले दुष्परिणामों पर विस्तार से चर्चा की। प्राचार्य डॉ. संध्या प्रेम ने पर्यावरण दिवस की महत्ता को उजागर करते हुए संदेश दिया की विद्यार्थी भारत के भविष्य हैं।

उन्होंने कहा कि शिक्षक और संस्थान को अपने उत्तरदायित्व का बोध होना चाहिए। मौके पर बीएड प्रशिक्षणार्थी आरती, सुनीता कल्याणी , शिवानी, इंद्रदेव व अंकिता ने पर्यावरण से संबंधित विचार रखे।वही प्रियंका व अंजलि ने कविता के माध्यम से पर्यावरण संबंधी अपने विचार अभिव्यक्त किए।

कार्यक्रम का संचालन बीएड प्रशिक्षु इरम जिलानी व धर्मेंद्र कुमार ने संयुक्त रूप से किया। मौके पर जगन्नाथ जैन महाविद्यालय के शिक्षक, शिक्षकेतर कर्मी, बीएड प्रशिक्षणार्थी व अन्य विभागों के छात्र,छात्राएं मौजूद थे। आभार प्रकट डॉ. बलदेव राम ने किया।

खबरें और भी हैं...