छानबीन:जब्त वाहन पर पुलिस गाड़ी का नंबर लगाकर किया जा रहा है इस्तेमाल,बोलेरो पर लगा दिया गया है विभाग के टाटा स्पेसियो वाहन का नंबर

कोडरमा2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 3 अगस्त को बागीटांड के पास से जब्त किया वाहन

जब्त वाहन का उपयाेग काेडरमा थाना कर रही है। वाहन पर फर्जी नंबर प्लेट लगाकर उसका उपयोग किए जाने का मामला सामने आया है। इस मामले का खुलासा वाहन मालिक के रिश्तेदार ने किया। इसके बाद से पुलिस के कार्यशैली पर सवाल उठ रहे है। वाहन पर जो फर्जी नंबर प्लेट लगाया गया है वह पुलिस विभाग की गाड़ी का बताया गया है।

जानकारी अनुसार गत 3 अगस्त 2021 को कोडरमा पुलिस ने बागीटांड के समीप से प्रतिबंधित मांस लदे एक बोलेरो बीआर 02पीए3539 को जब्त किया था। कार्रवाई के दौरान वाहन पर सवार 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। वहीं इस मामले में कुल 6 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई थी। फिलहाल गाड़ी का मालिक भी इस मामले में अन्य के साथ जेल में बंद है।

जब्त वाहन का काफी दिनों से पुलिस कर रही है इस्तेमाल
कोडरमा पुलिस काफी दिनों से जब्त किए गए वाहन पर पुलिस का स्टीकर सहित उनके नंबर प्लेट को बदलकर उसका उपयोग गश्ती सहित अन्य कार्यों में कर रही थी। इसकी सूचना पर वाहन के मालिक के रिश्तेदार नवादा निवासी मो. चांद अंसारी बुधवार को कोडरमा थाने पहुंचे थे। जहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए उसने बताया कि वाहन मालिक अरमान अंसारी नवादा जिले के अकबरपुर का है। जिसने दो साल पूर्व यह वाहन नवादा के ही नौशाद खान से खरीदा था। उसने बताया कि इस वाहन का नंबर बीआर 02पीए3539 है, जिसे बदलकर इसपर पुलिस विभाग के ही एक दूसरे वाहन टाटा स्पेसियाे का नंबर जेएच12बी 5646 लगा दिया गया है। वाहनों पर फर्जी नंबर लगाकर उसका उपयोग करना मोटरयान अधिनियम के तहत दंडनीय अपराध है। ऐसा करते पाए जाने वाले वाहन मालिक सह चालकों पर प्राथमिकी दर्ज करने सहित जुर्माना का प्रावधान है। बोलाेरो वाहन पर जिस टाटा स्पेसियाे वाहन का नंबर जेएच12बी 5646 प्लेट लगाया गया है। वह भी पुलिस विभाग का है। ऐसे में सवाल उठता है कि पुलिस विभाग के वाहन का फर्जी नंबर प्लेट जब्त वाहन में क्यों लगाया गया।

इस संबंध में थाना प्रभारी इंदू भूषण कुमार ने बताया कि जब्त वाहन के संबंध में उनके द्वारा छानबीन की जा रही है। फिलहाल इसका इस्तेमाल नहीं करने का निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...