निरंकुशता की मिसाल:केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की मांग पर माले व अखिल भारतीय किसान महासभा का रेल चक्का जाम

कोडरमाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • यदुडीह हॉल्ट पर जमे प्रदर्शनकारी, ट्रैक जाम होने के कारण कई मालगाड़ी का आवागमन बाधित रहा

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर भाकपा माले जिला कमेटी व अखिल भारतीय किसान महासभा की ओर से उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी घटना के आरोपी के पिता केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी को इस्तीफे की मांग को लेकर धनबाद-गया रेल मार्ग के यदुडीह हॉल्ट पर रेल चक्का जाम किया। रेलवे ट्रैक जाम होने के कारण कई माल गाड़ी का आवागमन बाधित रहा। जाम स्थल पर काफी संख्या में आरपीएफ के जवान मौजूद थे। मौके पर राज्य कमेटी सदस्य मो. इब्राहिम ने कहा की मोदी सरकार निरंकुशता की मिसाल कायम कर रही है। तीन काले कृषि कानून को अलोकतांत्रिक तरीके से संसद से पास करवाया।

उन्होंने कहा कि किसानों ने करीब 1 साल से कृषि कानून के विरोध में आवाज बुलंद कर रहे हैं, तब उन किसानों को बदनाम करने के लिए तरह-तरह के आरोप लगाए फिर भी किसानों ने काले कृषि कानून को रद्द करवाने के लिए लोकतांत्रिक तरीके से अपना विरोध प्रदर्शन जारी रखे हुए हैं। उन्होंने कहा कि तब से अब तक हजारों किसान ने शहादत दी और जब किसानों ने भाजपा सरकार के मंत्रियों के विरोध प्रदर्शन शुरू किया तब मोदी सरकार उन किसानों को गाड़ियों से कुचलने का काम कर रही है। जाम के उपरांत सरकार के नाम एक मांग पत्र स्टेशन मास्टर को सौंपा गया। मौके पर राज्य कमेटी सदस्य मोहन दत्ता, प्रखंड सचिव बहादुर यादव, तुलसी राणा, अशोक यादव, विनोद पांडेय, शंभू वर्मा, मुन्ना यादव, भागीरथ सिंह घटवार, सुरेंद्र सिंह, सहदेव मंडल, अजय पांडेय, मो. सलीम, कोलेश्वर राणा, शारदा देवी, पार्वती देवी, मुन्ना सिंह, हकीम खान, वीरेंद्र पांडेय, अशोक यादव, श्रीकांत ठाकुर, इस्लाम अंसारी, मुंशी दास, सरजू यादव, जुगल यादव, विष्णु दास, जगराम दास, मोती पासवान, अब्दुल रजाक, विजय ठाकुर सहित अन्य लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...