पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आयोजन:संत गाड़गे व्यक्ति नहीं विचार थे : सुनील

कान्हाचट्टी3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
संत गाडके जयंती में उपस्तिथी ग्रामीण व अन्य। - Dainik Bhaskar
संत गाडके जयंती में उपस्तिथी ग्रामीण व अन्य।

बाबा संत गाड़गे व्यक्ति नहीं बल्कि एक विचार थे। संत गाड़गे स्वयं निरक्षर रहते हुए भी दूसरों को साक्षर बनाने का काम किया था । उक्त बातें सुनील कुमार ने राजपुर के लड़िया में कही। वे यहां ग्रामीणों द्वारा आयोजित संत गाडगे की 145 वां जयंती में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में शामिल थे। उन्होंने आगे कहा कि संत गाडगे जी एक वैसे महा पुरुष थे।

जिन्होंने भिक्षा मांग कर शिक्षा का अलख जगाया। उन्होंने शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए तथा गरीब छात्रों को रहने के लिए धर्म शाला छात्रावास तथा पढ़ने के लिए पुस्तकालय का निर्माण कराया था। उनके द्वारा किए गए कार्य आज भी समाज के लिए प्रेरणा स्रोत हैं।

सुनील ने उनके बताए हुए रास्ते पर चलने के लिए लोगों से अपील की। इस तरह राजेश दास ने उनके जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि संत गाडगे लोगों से बर्तन नहीं खरीदने व नए कपड़े नहीं पहनने की नसीहत देकर दबे कुचले समाज के लोगों से अपने अपने बच्चों को शिक्षित बनाने के लिए हमेशा आगे रहे। उन्होंने खुद नारियल की खोपड़ी में खाना खाते थे और फटे कपड़े पहनते थे व शिक्षा को आगे बढ़ाने में लगे हुए थे। इस तरह मुकेश रजक, रामोतार रजक, अशोक दांगी, सरयू रजक, रमेशवर यादव आदि ने भी अपने विचार रखे।

कार्यक्रम की शुरुआत संत गाडगे की तस्वीर पर माल्यार्पण कर व दीप जला कर की गई। इस मौके पर बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की भी प्रस्तुति दी। यह कार्यक्रम प्रखंड के लाडिया गांव स्थित सामुदायिक भवन में किया गया था। कार्यक्रम को सफल बनाने महेंद्र रजक, आदित्य रजक, कमांडो रजक, मुकेश रजक, बिटटू आदि ने अहम भूमिका निभाई। कार्यक्रम में दूर दराज से करीब दो सौ लोग शामिल हुए थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें