जानकारी:अफीम की खेती रोकथाम को लेकर की गई विशेष चर्चा अफीम की खेती करने वाले जाएंगे सीधे जेल

कुंदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शांति समिति के बैठक में थाना प्रभारी व अन्य लोग। - Dainik Bhaskar
शांति समिति के बैठक में थाना प्रभारी व अन्य लोग।

कुन्दा थाना परिसर में दुर्गा पूजा को सादगी व सद्भाव के साथ मनाने को लेकर शांति समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता सीआई दुर्गादास ने की। जबकि संचालन थाना प्रभारी बंटी यादव ने किया। बैठक के दौरान झारखंड सरकार द्वारा दुर्गा पूजा समितियों को निर्देशित नियमों की विस्तृत जानकारी दी गई। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीआई दुर्गादास ने कहा कि सरकार के दिए गए निर्देशानुसार की पूजा करना है आगे कहा कि कोविड-19 महामारी से हमारा देश भेज रहा था और अभी भी कोरोना खत्म नहीं हुआ है

ऐसे में हम सबों का दायित्व है समाज के हर व्यक्ति का ख्याल रखें।वहीं थाना प्रभारी बंटी यादव ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सभी पूजा समिति के अध्यक्ष और आए हुए जनप्रतिनिधियों से बारी बारी से क्षेत्र में कहां हो रहे पूजा की जानकारी लिया और बैठक में आए हुए सभी लोगों से अपील करते हुए कहा कि दुर्गा पूजा शांति सौहार्द के साथ मनाना है और सरकार के नियमों का भी पालन करना है।थाना प्रभारी ने आगे लोगों से अपील करते हुए कहा कि अगर कहीं शरारती तत्व के लोग कहीं नजर पड़े तो तुरंत थाना को सूचित करें।और पूजा में शराब पूर्ण रुप से बंद रखने की बात कही गई।वही इस बैठक में अफीम की खेती पर विशेष चर्चा की गई।

अफीम की खेती कैसे रुके इस पर सभी लोगों ने अपनी अपनी प्रतिक्रिया दिया।थाना प्रभारी बंटी यादव ने थाना क्षेत्र के सभी लोगों से कहां है कि ग्रामीण अफीम की खेती के लिए खेत तैयार ना करें। इस बार अफीम की खेती करने वाले किसी भी सूरत में बक्से नहीं जाएंगे।अफीम की खेती करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी।अफीम की खेती छोड़कर टमाटर,पपीता,फूल जैसे खेती को करे। अगर नहीं मानते हैं और अफीम की खेती करते हैं तो चिन्हित कर तुरंत जेल भेजा जाएगा। इस बैठक में एएसआई पंकज सिन्हा, वनरक्षी मुकेश कुमार, मुना उरांव, सभी पंचायत के मुखिया, पंचायत समिति सदस्य, पूजा समिति के अध्यक्ष, राजनीतिक दल के नेता एवं कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...