निराशा / व्यवसायिकता से सीनियर डॉक्टर काफी आहत, सबको उम्मीद-पुराने दिन लाैटेंगे

X

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

लातेहार. संजीत गुप्ता, वर्तमान में डॉक्टरी ही एक ऐसा पेशा है, जिस पर लोग विश्वास करते हैं। इसे बनाए रखने की जिम्मेदारी सभी डॉक्टरों पर है। डॉक्टर्स डे स्वयं डॉक्टरों के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है, क्योंकि यह उन्हें अपने चिकित्सकीय प्रैक्टिस को पुनर्जीवित करने का अवसर देता है। लेकिन आजकल व्यावसायिकता की अंधी दौड़ में शामिल हो चुके चिकित्सकों को अब अपने पेशे को लेकर चिंता सताने लगी है।

इस पेशे में बढ़ती व्यवसायिकता से सीनियर डॉक्टर काफी आहत हैं। हालांकि, लातेहार में कुछ ऐसे डॉक्टर हैं जो अभी भी डॉक्टरी पेशे को सेवाभाव के रूप में जिंदा रखे हुए हैं। उन्हें फिर से पुराने समय के लौटने की उम्मीद है। वैसे डॉक्टर कहते हैं कि डॉक्टर जब अपने चिकित्सकीय जीवन की शुरुआत करते हैं तो उनके मन में नैतिकता और जरूरतमंदों की सेवा का जज्बा होता है, जिसकी वे कसम भी खाते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना