लक्ष्मी पूजा:जगमगाई खुशियां...प्रतिष्ठानों और घरों में पूरे विधि-विधान से हुई श्री लक्ष्मी-गणेश की पूजा

लातेहार23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बारियातू में धूमधाम से की गई मां काली की पूजा और अर्चना - Dainik Bhaskar
बारियातू में धूमधाम से की गई मां काली की पूजा और अर्चना
  • दीपोत्सव पर दीये की राेशनी से जगमगा उठा जिला

जिलेभर में गुरुवार को दीपोत्सव पर्व ‘दीपावली’ धूमधाम से मनाई गई। शाम होते ही लोगों ने अपने-अपने घरों में घी, तिल व करंज तेल के दीये जलाए। इससे पूरा जिला दीपों की राेशनी से जगमग हो उठा।

लोगों ने अपने व्यवसायिक प्रतिष्ठानों एवं घरों में पूरे विधि-विधान से श्री लक्ष्मी-गणेश के पूजन किए। कई स्थानों पर आकर्षक विद्युत सज्जा की गई। लोगों ने दीपावली की शुभकामनाओं के संदेश का आदान-प्रदान भी किया।

लातेहार शहर में पटाखे व आतिशबाजी की आवाज देर रात तक गूंजती रही। आतिशबाजी करने को लेकर बच्चे खासा उत्साहित देखे गए। कई घरों में लक्ष्मी पूजन पर छोटे-छोटे बच्चों ने रंगोली भी सजाई।

व्यवसायियों ने वसना पूजन एवं लक्ष्मी पूजन कर आर्थिक उन्नति की कामना की। लोगों ने अपने घर व दुकानों के बाहर केला के थम भी लगाए। दीपावली में लोगों ने रातभर जुए भी खेले।

वहीं, बालूमाथ प्रखंड क्षेत्र के शेरेगड़ा, बालू, मुरपा, झाबर समेत सभी गांव के टोले-मोहल्लों में दीपों का त्योहार दीपावली हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। शनिवार को सुबह से ही बालूमाथ बाजार में दीप, फोटो, पटाखा, सजावट, मिठाई व पूजा सामग्री की दुकानों में भीड़ देखी गई।

वहीं, कई घरों में आकर्षक रंगोलियां बनाकर अपने-अपने घरों को आकर्षक रूप से सजाया गया था। बालूमाथ के मगध कोल परियोजना अंतर्गत चमातू ग्राम में मां लक्ष्मी की प्रतिमा स्थापित कर पूजा-अर्चना की गई। दर्जनों स्थानों पर जमकर जुआ का खेल भी चला।

इसी तरह, जिले के चंदवा, बारियातू, हेरहंज, मनिका, बरवाडीह, गारू व महुआडांड़ प्रखंड में भी प्रकाश पर्व दीपावली पूरे हर्षोल्लास के साथ भक्तिपूर्ण वातावरण में मनाया गया। ग्रामीण क्षेत्रों में भी दीपावली का त्योहार धूमधाम से मनाए जाने की सूचना है।

चंदवा में दीपावली व काली पूजा हर्षोल्लास के साथ संपन्न
चंदवा में दीपावली व काली पूजा हर्षोल्लास संपन्न हुआ। कार्तिक मास की अमावस्या गुरूवार की मध्यरात्रि आचार्य पंडित त्रिभुवन पाठक के वैदिक मंत्रोच्चार के बीच बतौर यजमान बच्चु डे और हरेंद्र समेत अन्य ने माता काली की पूजा अर्चना में हिस्सा लिया।

पूजा के बाद प्रसाद का वितरण भक्तों के बीच किया गया। दूसरे दिन शुक्रवार को हवन किया गया। मौके पर पंडित साकेत पाठक, टीआई शिवशंकर सिंह, स्टेशन अधीक्षक अशोक कुमार, दीपक कुमार, राजेंद्र प्रसाद, सोमनाथ बादल, तनिश कुमार आदर्श, आदित्य भाष्कर, श्रुति अदिति, आदया रानी दक्षा समेत अन्य मौजूद थे।

गौरतलब हो की टोरी रेलवे स्टेशन में काली पूजा पिछले छह दशक से मनाया जा रहा है। टोरी स्टेशन में बंगाली परिवार काफी तादाद में रेलवे में काम करते थे। उन्हीं लोगों ने काली पूजा का शुभारंभ टोरी स्टेशन में कराया जो आज भी जारी है।

बालूमाथ | प्रखंड में दीपों का त्यौहार दीपावली हर्षोल्लास व धूमधाम के साथ मनाया गया। सुबह से ही बाजारों में भीड़ देखी गई। शाम होते ही मां लक्ष्मी एवं भगवान गणेश का पूजा किया गया।

वही दीपावली पर लोग अपने-अपने घरों को आकर्षक रूप से सजाया था। वहीं कई घरों में रंगोली भी बनाई गई थी। वही दिवाली को लेकर कई जगहों पर जमकर जुआ खेला गया। प्रशासन पूरे रात पेट्रोलिंग कर जुआरियों को खदेड़ते नजर आई।

बारियातू | प्रखंड अंतर्गत फुलसू पंचायत के लाटू में मां काली की पूजा चतरा के पंडित नेपाल पाठक ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ संपन्न कराया। लाटू में साल 1950 से प्रतिवर्ष मां काली की प्रतिमा स्थापित कर पूजा-अर्चना की जा रही है।

मां काली की प्रतिमा का विसर्जन वैदिक हवन के साथ शुक्रवार को किया गया। प्रतिमा का विसर्जन स्थानीय लाटू जलाशय में की गई। पूजा के पूर्व संध्या पर पांडेय म्यूजिकल ग्रुप द्वारा भगवती जागरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में मां काली पूजा समिति लाटू के सदस्यों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

खबरें और भी हैं...