बड़ी समस्या:मुखिया ने की इंटरनेट की सेवा बहाल करने की मांग

पेशरार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के सुदूरवर्ती क्षेत्र पेशरार को प्रखंड बनाए जाने के 12 वर्षों के बाद भी नेट कनेक्टिविटी उपलब्ध नहीं होने के कारण आज भी बड़ी समस्या बनी है। हालांकि कुछ स्थानों नेटवर्क उपलब्ध हो जाता है। वैसे स्थानों पर ही दूरभाष पर बात हो पाती है। पेशरार प्रखंडवासी आज भी कई बुनियादी सुविधाओं से वंचित है।

ग्रामीणों को विभिन्न तरह का कार्य कराने में काफ़ी समस्या उत्पन्न होती है। पेशरार में नेट कनेक्टिविटी नहीं होने के कारण अंचल एवं प्रखंड के मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना, 14वें वित्त, जाति, आय, आवासीय, वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन, आवास, जमीन संबंधित ऑनलाइन एंव विभिन्न तरह की रिपोर्टिंग कार्य आदि किस्को में ही करना पड़ता है। पेशरार प्रखंड 28 फरवरी 2009 में अपना अस्तित्व में आने के बाद पेशरार प्रखण्ड में विकास कई बड़ी कार्य हुआ।

लेकिन पेशरार प्रखंड के अपने अस्तित्व में आने के बाद से ही प्रखंड एवं अंचल किस्को में ही संचालन हो रहा है। मामले पर रोरद पंचायत के मुखिया अरविंद भगत ने कहा कि पेशरार प्रखंड क्षेत्र में भी जिओ, एयरटेल एवं बीएसएनएल आदि कंपनी के हजारों की संख्या में कंज्यूमर है। कंपनी अपना टावर लगाए, जिससे कंपनी को भी मुनाफा हो औऱ विकास कार्यों को गति मिल सके।

खबरें और भी हैं...