पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के दिशा-निर्देशों का नहीं हो रहा है सही तरीके से पालन

लोहरदगा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना के प्रति लाेग जागरूक व सतर्क जरूर हुए हैं, पर लापरवाही भी बढ़ी है

जिले भर में सरकार द्वारा स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के तहत जारी किए गए दिशानिर्देशों का अब भी पूर्ण रूप से पालन नहीं हो रहा है। लोग पूर्व की तुलना में अब कोरोना के प्रति जागरूक व सतर्क जरूर हुए हैं परंतु इससे भी ज्यादा लापरवाही भी बढ़ी है। यही कारण रही कि बीते एक से दो साल में संक्रमण से हुई लोगों की मौत की संख्या ज्यादा रही। लोग जारी दिशा निर्देशों के अनुसार 2 बजे के बाद अपने आवश्यक सामग्रियों के प्रतिष्ठानों को बंद जरूर कर रहे है।

परंतु इससे पूर्व तक सुबह के शुरुआती दौर में सड़कों पर आवाजाही सामान्य दिनों की तरह होती है। जिसके बाद दोपहर बाद से सड़कों पर सन्नाटा पसारना शुरू हो जाता है। लोगों को अब भी यह समझना होगा कि संक्रमण का दर घटा है, संक्रमण अब भी नहीं हटा है। यदि यही स्थिति बनी रही तो आगे कोरोना की तीसरी लहर से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। सरकार द्वारा जारी पूरे लॉकडाउन के बीच लोगों का आवाजाही सुबह से दोपहर तक जारी रहा है। इधर रविवार को शंख नदी पुलिस पिकेट, बी एस कॉलेज पुलिस पिकेट व बरवा टोली चौक सहित अन्य जगहों पर पुलिस प्रशासन के अधिकारियों द्वारा आवश्यक मास्क व ई पास की जांच जारी रखा गया।

321 लोगों की जांच में 19 मिले संक्रमित, 47 को मिली छुट्टी

जिला में अभी संक्रमण का खतरा टला नहीं है। परंतु संक्रमितों की संख्या में कमी जरूर आई है। रविवार को जिले में कुल 321 लोगों का कोविड-19 के लिए सैंपल इकट्ठा किया गया। जिसमें 19 लोग संक्रमित मिले। इसके पुष्टि करते हुए सिविल सर्जन विजय कुमार ने बताया कि संक्रमित मिले 19 लोगों में 11 पुरुष और 8 महिला शामिल है। जिन 19 लोगो के संक्रमण की पुष्टि हुई है उनमें 6 का रैट, 2 का ट्रूनेट और 11 लोगों का आरटीपीसीआर से जांच किया गया है। बताया गया 10 दिवसीय होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज हुए लोगों की संख्या भी 47 रही। जिले में अब कोरोना संक्रमित के सक्रिय मामले 313 रह गए है। बताया गया कोविड 19 के इकट्ठा किए गए 321 सैंपल में 297 रैट, 19 आरटीपीसीआर और 5 ट्रूनेट पद्धति से जांच हुई है।

खबरें और भी हैं...