पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिक्षकों से प्रतिक्रिया:ऑनलाइन पढ़ाई कारगर नहीं, सेल्फ स्टडी पर छात्र-छात्राएं दें ध्यान- शिक्षक

लोहरदगा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस पर भास्कर प्रतिनिधि द्वारा जिले के कुछ शिक्षकों से प्रतिक्रिया भी ली गयी

बीते एक वर्षों में कोरोना काल के इस दौर से गुजर रहे छात्र-छात्राओं में पढ़ाई को लेकर कई प्रकार की परेशानियां खड़ी हो गई है। ऐसे में कक्षा पांचवी से कम के छात्रों को ज्यादा परेशानी हो रही है। जिसका कारण ऑनलाइन पढ़ाई है। बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई के दौर में मोबाइल का प्रयोग ज्यादा कर ही रहे हैं। इसके अलावा मोबाइल से पढ़ाई करने के दौर में सर दर्द वाह आंख दर्द जैसे परेशानियां भी सामने आने लगी है। वहीं। उच्च कक्षा के छात्रों को भी ऑनलाइन पढ़ाई में परेशानी आ रही है। इस पर भास्कर प्रतिनिधि द्वारा जिले के कुछ शिक्षकों से प्रतिक्रिया भी ली गयी।

जिसमें वाईफाई स्टडी प्वाइंट के संचालक शिक्षक विकास कुमार ने कहा कि ऑनलाइन पढ़ाई कारगर नहीं है। ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान कई प्रकार की परेशानियों से शिक्षकों और बच्चों को जूझना पड़ता है। ऐसे में सरकार को ऑनलाइन से हट कर नए गाइडलाइन के तहत सोशल दूरी के साथ कम उपस्थिति में बच्चों को पढ़ाने जैसी छूट देने की दिशा में कदम उठाना चाहिए। जिससे कम से कम उच्च कक्षाओं के बच्चों को अपनी पढ़ाई जारी रखने में आसानी हो सके। वहीं वर्ल्ड वाइड इनस्टीच्यूट के संचालक सह शिक्षक अंकित कुमार ऑनलाइन पढ़ाई को कारगर नहीं बताया। उन्होंने कहा कि सभी कक्षाओं के बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई से ज्यादा सेल्फ स्टडी पर ध्यान दें। उन्होंने कहा कि लोहरदगा जैसे छोटे जिले में नेटवर्क समस्या अधिक रहने के कारण ऑनलाइन पढ़ाई भी बेहतर रूप से नहीं हो पाती है। इस क्रम में अभिभावकों को अपने बच्चों के लिए अधिक समय देने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...