पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

विश्व पर्यटन दिवस आज:1195 साल पहले बसे मांडू काे 1996 में मिला पर्यटक स्थल का दर्जा, उस साल पहुंचे थे 57837 पर्यटक, दाे रुपए था टिकट

मांडूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • परमार वंश से जुड़े उपेंद्र सेन ने राजस्थान के अचलगढ़ से 825 में आकर बसाया था मांडू, अाज विदेशाें में पहचान

(सुनील तिवारी)
पर्यटक नगर मांडू 1195 साल पहले बसा था। लेकिन इसे पर्यटक स्थल का दर्जा 1996 में मिला। पहले ही साल यहां 57837 भारतीय पर्यटक पहुंचे थे, जबकि 596 विदेशी पर्यटकाें ने भी मांडू में भ्रमण किया था। उस समय यहां टिकट की दर दाे रुपए रखी गई थी। परमार वंश से जुड़े उपेंद्र सेन ने राजस्थान के अचलगढ़ से 825 में यहां पहुंचकर इस नगर काे बसाया था।
1945 तक यहां अलग-अलग शासकाें का राज रहा। स्मारकाें काे भारतीय पुरातत्व विभाग ने पूर्ण रूप से 1958 में अपने अधीन ले लिया था। ये स्मारक आज फिर से दमकने लगे हैं। यही कारण रहा है कि भारतीय पर्यटकाें के साथ ही विदेशियाें का मांडू के प्रति आकर्षण बढ़ा है।

ये बड़े प्रयास हुए, जिनसे बदल गई मांडू की फिजा : मांडू उत्सव की शुरुआत से मांडू का पर्यटन बढ़ा। मांडू में लाइट एंड साउंड शाे, एडवेंचर गतिविधियां, डायनासोर फॉसिल पार्क का कायाकल्प, बड़ी होटलों को लाया गया। बूढ़ी मांडू का कायाकल्प, हेरिटेज होटल की प्लानिंग, पूर्व कलेक्टर जयश्री कियावत, नीरज सिंह, दीपक सिंह के बाद अब आलोक सिंह और जिला पंचायत सीईओ संतोष वर्मा मांडू काे नया आकार दे रहे हैं।

गाइड से समझें.... 40 साल में पर्यटक बढ़ने का सफर

1980 में पहली बार इंदाैर के पर्यटकाें काे कराया था भ्रमण
मांडू के वरिष्ठ गाइड कन्हैयालाल जायसवाल पिछले 40 वर्षों से मांडू आने वालाें काे भ्रमण करा रहे हैं। उन्होंने बताया कि सन 1980 में मैंने पहली बार इंदौर के पर्यटकों मांडू घूमाया था। देखते ही देखते 40 वर्ष निकल गए। पहले इन प्राचीन स्मारकाें का इतना मैंटेनेंस नहीं हाेता था। पहले खंडहर की तरह वीरान था आज पर्यटकों के चहल-पहल से गुंजायमान है। जो परिवर्तन हुआ है उससे मांडू का पर्यटन बढ़ा है। 30 रुपए में पहली बार गाइड के बताैर शुरू की थी। आज मांडू की तस्वीर बदली है।

मांडू के विकास ने बदली है यहां की तस्वीर : 2006 से धीरज चौधरी ने गाइड के बताैर शुरुअात की। चाैधारी बताते हैं कि उन्हें हिंदी, अंग्रेजी, फ्रेंच, स्पेन, गुजराती, मराठी भाषा में गाइड कर पर्यटकों को इतिहास की जानकारी देते हैं। मांडू में जाे विकास कार्य किए गए हैं, उससे ही यहां का पर्यटन बढ़ा है।

अकबर नामा में भी हैं मांडू का उल्लेख

मुगल काल के शासक अकबर के खास चित्रकार केशव कलान ने सन 1592 में एक तस्वीर बनाई थी, जिसका अबू फजल ने अकबरनामा फारसी ग्रंथ में भी उल्लेख किया है। इसमें मांडू के शाही दरबार में नर्तकियों द्वारा अकबर बादशाह की फौज का 16वीं सदी में बाजबहादूर और मालवा पर विजय प्राप्त करने के बाद अकबर के भव्य स्वागत का चित्रण किया गया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें