पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

श्रद्धांजलि:संत जीते जी और मरने के बाद भी समाज में पूजे जाते हैं

मांडू11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

संत जीते जी और मरने के बाद भी समाज में पूजे जाते हैं। इसका कारण यह है कि वह निस्वार्थ भाव से समाज की सेवा करते हैं। सच का मार्ग दिखाते हैं। महंत त्रिलोकी दास जी का जीवन भी समाज को समर्पित रहा। प्रभु श्री राम और ट्रस्ट की सेवा में उन्होंने अपना जीवन अर्पण कर दिया। उनका जाना हम सब के लिए अपूर्ण क्षति है।

यह बात मांडू प्रेस क्लब द्वारा आयोजित महंत त्रिलोकी दास जी महाराज की श्रद्धांजलि सभा में दिल्ली से पधारे अखिल भारतीय शांति प्रतिष्ठान के अध्यक्ष बिंदू भूषण दुबे ने कहीं। उन्होंने कहा कि मुझे भी महंत श्री ने जीवन में कई मार्गदर्शन दिए थे जिसकी बदौलत आज मैं यहां हूं। महामंडलेश्वर महंत नरसिंह दास जी महाराज ने कहा कि अब हम सबको मिलकर महंत श्री त्रिलोकी दास जी महाराज के बचे हुए कामों को पूर्ण करते हुए और समाज को आगे बढ़ाना है।

श्रद्धांजलि सभा में नगर के व्यापारीगण, संत समाज के लोगों के साथ बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे। नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि जयराम गावर, नगर परिषद उपाध्यक्ष प्रतिनिधि कृष्णा यादव, सोमनाथ तिवारी, रविंद्र परिहार, कपिल पारीक, मांगीलाल जयसवाल, सुरेश गंगवाल, पुरातत्व विभाग के प्रशांत पाटणकर, राजू सैनी, केदारनाथ तिवारी, महेंद्र जैन मनोहर ठाकुर के साथ वरिष्ठ जनों ने महंत श्री के जीवन और उनके द्वारा किए गए सामाजिक ऐसे कार्यों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

त्रिलोकी दास जी की याद में रुद्राक्ष उपवन बनेगा
इधर श्री बिंदूभूषण ने सभा में इस बात की घोषणा की कि उनके संस्था द्वारा मांडू चतुर्भुज श्री राम मंदिर के प्रांगण में महंत त्रिलोकी दास जी महाराज की याद में रुद्राक्ष उपवन बनाया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पालघर के दिवंगत संतों को न्याय दिलाने के लिए उनकी संस्था और समाज जो लड़ाई लड़ रहे हैं अब उस लड़ाई को महंत त्रिलोकी दास जी की स्मृति में पूरी ताकत से लड़ा जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें