बालू अवैध भंडारण:हर दिन 100 से ज्यादा ट्रैक्टर से ढुलाई, पुलिस-प्रशासन सब मौन

मझिआंवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मझिआंव में अवैध ढंग से किया गया बालू का भंडारण। - Dainik Bhaskar
मझिआंव में अवैध ढंग से किया गया बालू का भंडारण।
  • मझिआंव में एक दर्जन से अधिक जगहों पर बालू का अवैध भंडारण

खनन विभाग एवं प्रखंड के प्रशासनिक अधिकारियों की उदासीनता के कारण पिछले कई दिनों से प्रतिबंधित नदियों से अवैध बालू का उत्खनन जोरों पर है। जिसके कारण नदियों का अस्तित्व खतरे में है। यदि अवैध बालू के उठाव पर अविलंब प्रतिबंध नहीं लगाया गया तो,आनेवाले समय में नदी का अस्तित्व भी खतरे में पड़ सकता है।

जानकारी के अनुसार पूरी रात ट्रैक्टरों के माध्यम से बालू का धुलाई अवैध रूप से की जाती है। इससे ट्रैक्टरों की आवाज से सड़क के बगल में रहने वाले लोगों की नींद हराम हो जाया कर रही है। यहां तक की बालू के कारोबारियों द्वारा रात के अंधेरे का लाभ उठाकर अवैध बालू का उठाव किया जाता है। और अपनी मनचाहे कीमत पर बिक्री किया जाता हैं। ट्रैक्टर मुख्य सड़क के अलावे गांव एवं मोहल्ले के कच्चे रास्ते से गुजरते हैं। गौरतलब हो कि बुढ़ीखांड गांव से सटे कच्ची सड़क के माध्यम से डंगरा पहाड़ी के तलहटी में अवैध बालू का भंडारण देखा गया।

बालूगंज बांकी नदी से भी निकाला जा रहा है बालू

इसी तरह महुरान नामक स्थान से सटे कोयल नदी के किनारे बालू का भंडारण देखा गया। इसी तरह पुरहे गांव से सटे बालूगंज बांकी नदी का घाट से भी बालू का अवैध उत्खनन जोरों पर है। सच कहा जाए तो रात भर कम से कम लगभग एक सौ से अधिक ट्रैक्टरों द्वारा ट्रिप किया जाता है। इससे प्रतिदिन सरकार के लाखों रुपए की राजस्व की हानि हो रही है। तो दूसरी तरफ बालू के कारोबारी मालामाल हो रहे हैं। संबंधित विभाग के अधिकारी एवं प्रशासनिक विभाग सब कुछ जानते हुए भी चुप्पी साधे हुए हैं।

सबसे गौरतलब हो कि प्रखंड कार्यालय से सटे मुख्य सड़क से सरेआम हाईवा के द्वारा बालू का ढुलाई जारी रहती है। इधर प्रबुद्ध नागरिकों का कहना है कि आखिरकार प्रशासनिक अधिकारी एवं खनन विभाग के पदाधिकारी मौन बैठे हैं। जो समझ से परे है। जबकि सरकार द्वारा सख्त हिदायत दी गई है कि किसी भी परिस्थिति में प्रतिबंधित नदियों से बालू का उठाव अवैध व गैरकानूनी है। इधर संबंधित प्रशासनिक विभाग एवं खनन विभाग के द्वारा पूछे जाने पर एक ही बात कह कर टाल दिया जाता है,की अविलंब कार्रवाई किया जाएगा। लेकिन कोई भी कार्रवाई नहीं की जाती है।

खबरें और भी हैं...