पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

संगम में डूबा 3 भाई का परिवार:औरंगा-कोयल संगम में नहा रहे सात युवकों में तीन बहे, एक की लाश मिली; दो की तलाश

मेदिनीनगर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पलामू और लातेहार जिले की सीमा पर बरवाडीह थाना क्षेत्र में दर्दनाक हादसा
  • नदी में डूबने वाले तीनों युवक पलामू के रेड़मा के तीनों आपस में हैं रिश्तेदार
  • चियांकी के बखरी गांव के पास मिली नीरज की बॉडी अस्पताल ले जाते ही मौत

पलामू व लातेहार जिला की सीमा पर स्थित बरवाडीह थाना क्षेत्र के केचकी कोयल-औरंगा नदी संगम तट पर मंगलवार की सुबह हुए बड़े हादसे में तीन युवक नहाने के दौरान बह गये, जिसमें एक युवक का शव मिला है, जबकि दो युवकों की तलाश जारी है। तीनों युवक डालटनगंज के रेड़मा के रहनेवाले हैं। घटना के संबंध में बताया जाता है कि मंगलवार की सुबह लगभग छह बजे डालटनगंज से 7 लड़के दो स्कूटी व एक मोटरसाइकिल पर सवार होकर संगम तट पहुंचे थे। वन विभाग के बंगला के पास बाइक खड़ी की।

जिसके बाद सभी नदी में नहाने उतर गये। नहाने के क्रम में सभी लड़के पानी के तेज धार में बहने लगे जिसमे की चार लड़के आदित्य कुमार, मृत्युंजय कुमार, अंकित कुमार एवं अभिषेक कुमार किसी तरह तैर कर बाहर निकल गए। जबकि नीरज कुमार (18) पिता अशोक साव, सोनू कुमार गुप्ता (17) पिता सुनील कुमार व अभिनव कुमार उर्फ टोनू (18) पिता बबलू प्रसाद नदी के तेज धार में बह गए। इसकी जानकारी मिलते ही बरवाडीह सर्किल इंस्पेक्टर उदय प्रताप सिंह, थाना प्रभारी दिनेश कुमार सदल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच कर नदी के तेज धार में बहे तीनों लड़कों की खोज-बीन शुरू कर दी।

इसी दौरान नीरज कुमार को चियांकी के बखारी गांव के कोयल नदी के बीच मे देखा गया। गांव के लोगों ने काफी मशक्कत के बाद उसे बाहर निकाला। बाहर निकालने के बाद पता चला कि नीरज की हल्की-हल्की सांस चल रही है। तभी लोगों ने आनन-फानन में बाइक से लेकर डालटनगंज पीएमसीएच हॉस्पिटल के लिए निकले। इसी दौरान बरवाडीह थाना प्रभारी दिनेश कुमार वहां पहुंचे और अपनी गाड़ी से नीरज को डालटनगंज पीएमसीएच हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

नीरज के चाचा अश्वनी कुमार गुप्ता ने बताया कि तीनों बच्चे एक ही परिवार के हैं। इसमें मेरे दो भाई के एक-एक और एक मेरा बेटा है। लगभग तीन चार दिन से तीनों बच्चे रोज सुबह 5 बजे घूमने के बहाने से निकल रहे थे। समाचार लिखे जाने तक सोनू कुमार एवं अभिनव कुमार का कुछ भी पता नहीं चला है।

हृदयविदारक चीख से सब की आंखें हुई नम : रेडमा चौक पर ही स्थित परिवार के घर में कोहराम मचा हुआ है। एक साथ परिवार के तीन बच्चों के खोने के बाद चीख-पुकार मची हुई है। स्थानीय लोग परिजन और पुलिस की टीम लापता दो युवकों को ढूंढने का लगातार प्रयास कर रही है।जिसे भी इस घटना की जानकारी मिली सभी प्रभावित परिवार के घर पहुंचे व लोगों को ढाढ़स बंधाया।महिलाओं की हृदयविदारक चीख से सब की आंखें नम हो जा रही थी। इस घटना के बाद पूरा परिवार टूट गया है। अब लोगों को लापता दोनों बच्चों को मिलने का इंतजार है। सभी बच्चे नहाने संगम तट पर लगभग 16 किमी की दूरी पर गये हैं, यह जानकारी परिवार के किसी सदस्य को नहीं थी।

डूबने की सूचना पाकर केएन त्रिपाठी पहुंचे केचकी : पलामू लातेहार के सीमा पर स्थित केचकी के पास कोयल और औरंगा नदी के संगम पर तीन युवकों के डूबने की सूचना पाकर राज्य के पूर्व मंत्री सह इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष व राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष केएन त्रिपाठी केचकी पहुंचे। वहां उन्होंने दोनों जिला के प्रशासन से बात कर घटना की जानकारी ली। इस अवसर पर त्रिपाठी ने गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि यह हृदय विदारक घटना है। इस दुख की घड़ी में इन सभी परिवारों के साथ खड़ा हैं। उन्होंने आम लोगों से अपील की कि इस तरह के जगह पर नहाने नहीं आएं।

नदी में उतरते ही तेज धार में बहने लगे सभी, 4 युवक किसी तरह तैरकर निकले

पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है औरंगा-कोयल संगम तट

पलामू व्याघ्र परियोजना क्षेत्र में औरंगा - कोयल संगम तट प्रसिद्ध पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। यहां लोग पिकनिक मनाने भी आते हैं। इस स्थान पर औरंगा व कोयल नदी का संगम होता है। ऐसे में यहां नदी की धार काफी तेज हो जाती है। रेड़मा से आए सातो युवक इसकी भयावहता को नहीं समझ सके और बह गए।

घटना में बचे युवकों की जुबानी

नदी की धार काफी तेज थी, हम चारों को तैरना आता था इसलिए निकल गए, लेकिन वे तैरना नहीं जानते थे, बह गए

औरंगा - संगम तट पर नदी की तेज धार में बहे तीन युवकों के साथ गये अन्य चार युवकों ने तैर कर सकुशल बाहर निकलने के बाद खूब शोर मचाया, लेकिन उस समय आसपास कोई नहीं था। नतीजतन कोई बचाने नहीं आया और तीनों हमलोग की आंखों के सामने ही नदी की तेज धार में बह गये। तैर कर बाहर निकले आदित्य कुमार, मृत्युंजय कुमार, अंकित कुमार व अभिषेक कुमार ने बताया कि हमलोग सोमवार की शाम ही संगम तट पर जाने का प्लान बनाए थे। मंगलवार की सुबह अपने अपने घरों में यह कहकर निकल गये कि घूमने जा रहे हैं।

इसके बाद हमलोग सातो तीन बाइक पर सवार होकर लगभग साढ़े पांच बजे सुबह घर से निकले व संगम तट पर पहुंच गये। नदी की धार काफी तेज हो गयी थी। हम चारों को तैरना आता था इसलिए हमलोग बाहर निकल गये, लेकिन वे तीनों तैरना नहीं जानते थे नतीजतन बह गये। हमलोग बाहर निकल कर परिजनों समेत अन्य लोगों को मोबाइल से सूचना दी। लोग पहुंचते तब तक देर हो चुकी थी।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें