पिपराटांड़ थानाक्षेत्र का मामला:नाबालिग से दुष्कर्म मामले में कोर्ट ने दोसी को सुनाई 10 साल की सजा

मेदिनीनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नाबालिग लड़की से दुष्कर्म के एक ममाले में न्यायलय ने आरोपी को दोषी मानते हुए दस साल की सजा सुनाई है। साथ ही दस हज़ार रुपये का जुर्माना लगाया है। जुर्माना की राशि जमा नहीं करने पर अभियुक्त को छह माह अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। मामला पिपराटांड़ थानाक्षेत्र में चार वर्ष पूर्व घटित हुआ था।

तुनुदाग निवासी 22 वर्षीय लवकुश वर्मा उर्फ रंजीत वर्मा ने वर्ष 2018 के जनवरी माह में नाबालिग लड़की को अपनी हवस का शिकार बनाया था। शाम के वक्त पीड़िता अपने घर से थोड़ी दूर शौच के लिए गई थी। इसी दौरान लवकुश ने उसके साथ दुष्कर्म किया था।पीड़िता के लिखित आवेदन के आधार पर अदालत द्वारा दोषी ठहराए गए लवकुश वर्मा के खिलाफ पिपराटाड़ थाना में धारा 376 आइपीसी और 4 (पोक्सो एक्ट) के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की गयी थी।

आरोपी को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया था।अनुसंधान के पश्चात पिपराटांड़ के तत्कालीन थाना प्रभारी गुलशन भेंगरा ने न्यायालय में आरोप पत्र समर्पित किया था। जिसके आधार पर पलामू व्यवहार न्यायालय के जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश-4 सह विशेष न्यायाधीश (पोक्सो एक्ट) द्वारा अभियुक्त को दोषी मानते हुए दस वर्ष के कारावास और दस हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई गई।

खबरें और भी हैं...