पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घेराव:जलसहिया काे 22 महीने से मानदेय नहीं, कांग्रेस-झामुमाे कार्यालय का किया गया घेराव

मेदिनीनगर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड जल सहिया संघ की पलामू इकाई के बैनर तले जिलेभर की सहियाओं ने बकाया मानदेय भुगतान समेत अन्य मांगों को लेकर बुधवार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत सतारुढ़ दल कांग्रेस और झामुमो कार्यालय का घेराव किया। मौके पर वक्ताओं ने कहा कि सरकार ने जल सहियाओं को उनके अधिकार से वंचित रखा है। जल सहिया को बीते 22 माह से मानदेय का भुगतान नहीं किया गया है।

पूर्ववर्ती सरकार ने जलसहिया को एक हजार रुपए प्रतिमाह मानदेय देने का निर्णय लिया था। परंतु जल सहियाओं को मात्र 3 महीने के ही मानदेय का भुगतान अब तक हुआ है। हेमंत सरकार ने चुनाव से पूर्व घोषणा किया था कि सभी कर्मियों का मानदेय में बढ़ोत्तरी की जाएगी। परन्तु जल सहियाओं का मानदेय में बढ़ोत्तरी तो दूर बकाया मानदेय का भी भुगतान नहीं किया जा रहा है।

हेमंत सरकार को अपने किए गए वादे को याद दिलवाने के लिए ही कांग्रेस और झामुमो कार्यालय का घेराव किया गया है। इसके बाद भी सरकार बकाया मानदेय भुगतान के साथ-साथ मानदेय में बढ़ोतरी नहीं करती है तो कांग्रेस और झामुमो कार्यालय के समक्ष अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन किया जाएगा।

घेराव के उपरांत जलसहिया ने क्रमश: झामुमो जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिन्हा गुड्ड और कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष मिथिलेश सिंह को मांगपत्र सौंपा। इसके माध्यम से 22 माह के बकाया मानदेय का भुगतान करने, चुनावी वादे के अनुसार मानदेय में बढ़ोतरी करने, 6-6 माह में ड्रेस कोड देने, नगर निगम क्षेत्र में भी जलसहिया को कार्य देने की मांग की गयी। मौके पर अध्यक्ष पिंकी विश्वकर्मा, उषा देवी, प्रीति कुमारी, सरिता देवी, गीता देवी, सविता देवी, विमला देवी, चंदा देवी, प्रेमवती देवी आदि की मौजूदगी रही।

खबरें और भी हैं...