कार्रवाई:सूरी गांव के महबूब का अपहरण कर मांगी थी 2 लाख की फिरौती, 2 अपहर्ता गिरफ्तार

मेदिनीनगर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लेस्लीगंज एसडीपीओ आलोक टुडी व अन्य, पीछे खड़े गिरफ्तार गिरफ्तार अपराधी। - Dainik Bhaskar
लेस्लीगंज एसडीपीओ आलोक टुडी व अन्य, पीछे खड़े गिरफ्तार गिरफ्तार अपराधी।
  • पलामू पुलिस ने 24 घंटे में किया मामले का खुलासा, मुख्य आरोपी फरार
  • पिता ने पांकी थाने में फिरौती के लिए बेटे के अपहरण का मामला दर्ज कराया था

पलामू पुलिस ने पांकी थाना अंतर्गत सूरी गांव के महबूब अंसारी के अपहरण का 24 घंटे के खुलासा कर दिया है। पुलिस ने महबूब अंसारी के अपहरण में शामिल अर्जुन भुइयां और सुधीर भुइयां को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने महबूब अंसारी को उनके चंगुल से मुक्त करा लिया है। इसमें अर्जुन भुइयां लेस्लीगंज थाना के गुरुआ और सुधीर भुइयां पाटन थाना के चेतमा का रहने वाला है। जबकि मुख्य आरोपी सूरी गांव का कलाम अंसारी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

लेस्लीगंज एसडीपीओ आलोक टुडी ने शुक्रवार को एसपी कार्यालय में पत्रकारों को बताया कि 12 जनवरी की शाम को पांकी थाना के सूरी निवासी महबूब अंसारी किसी का इलाज कराने के लिए अपने घर से निकले तो घर नहीं लौटे। इसके बाद महबूब अंसारी के पिता सैयद अंसारी ने पांकी थाना में गुमशुदगी का सनहा दर्ज कराया।

इस पर पुलिस ने 13 जनवरी को महबूब अंसारी के परिजनों से पूछताछ की तो पता चला कि सूरी गांव का कलाम अंसारी, जो दूसरी शादी कर लोहरदगा में बस गया है, ने फोन करके महबूब अंसारी को बुलाया था। परिजनों ने महबूब अंसारी के गायब होने के पीछे कलाम अंसारी को आपराधिक प्रवृत्ति का बताते हुए उस पर संदेह जताया।

इधर महबूब अंसारी के चचेरे भाई कासिम अंसारी ने कलाम अंसारी से संपर्क किया तो उसने अपहरण की बात स्वीकार करते हुए दो लाख रुपए फिरौती की रकम लेकर बताए जगह पर आने को कहा। इसके बाद महबूब अंसारी के पिता सैयद अंसारी ने पांकी थाना में अपने बेटे का फिरौती के लिए अपहरण का मामला पांकी थाना कांड संख्या 05/2022 दर्ज कराया।

चिल्हो पहाड़ पर अपहृत को रखने का मिला था सुराग
पुलिस ने टीम गठित कर अनुसंधान शुरू कर दिया। इसमें पुलिस को सुराग मिला कि महबूब अंसारी को अपहरण के बाद तरहसी के चिल्हो पहाड़ पर रखा गया है। जब पुलिस वहां पहुंची तो उसको देखकर अपराधी भागने लगे। जिससे पुलिस ने महबूब अंसारी को सकुशल मुक्त कराते हुए अर्जुन भुइयां और सुधीर भुइयां को गिरफ्तार कर लिया, जबकि कलाम अंसारी भागने में सफल रहा। पुलिस ने वहां से महबूब अंसारी का बाइक भी बरामद कर लिया।

दोनों अपहरणकर्ताओं ने पुलिस को बताया कि मुख्य सरगना कलाम अंसारी है। उन लोगों ने पैसे के लालच में सहयोग किया था। पुलिस कलाम अंसारी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी अभियान चला रही है। उन्होंने बताया कि छापेमारी दल में पांकी इंस्पेक्टर जगन्नाथ धान, एसआई हीरालाल शाह, गुलशन गौरव व जवान शामिल थे।

खबरें और भी हैं...