पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वेबिनार:पारंपरिक यूरिया का कारगर विकल्प है नैनो यूरिया- इफको

मेदिनीनगर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • इफको ने वेबिनार से किसानों को बताया

इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर को-ऑपरेटिव लिमिटेड (इफको) ने रविवार को बेवीनार से नए उत्पाद नैनो यूरिया के बारे में जानकारी दी। वेबिनार से नैनो टेक्नोलॉजी के डॉ. रमेश रालिया, बीएयू के कुलपति डॉ. ओंकारनाथ सिंह, मृदा वैज्ञानिक डॉ. डीके शाही, इफको के विपनन निदेशक योगेंद्र कुमार, राज्य विपनन प्रबंधक आरके सिंह, क्षेत्र अधिकारी चंदन कुमार, क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र, चियांकी के उद्यान वैज्ञानिक डॉ. अब्दुल माजिद अंसारी आदि जुड़े।

इसमें नैनो टेक्नोलॉजी के डॉ. रमेश रालिया ने बताया कि इफको के नैनो बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर, कलोल में इफको की पेटेंटेड तकनीक से नैनो यूरिया को विकसित किया गया है, जो इको फ्रेंडली है। इफको नैनो यूरिया के एक कण का आकार लगभग 30 नैनोमीटर होता है। सामान्य यूरिया की तुलना में इसका पृष्ठ क्षेत्र और आयतन अनुपात लगभग 10,000 गुना अधिक होता है। नैनो यूरिया तरल पर्यावरण हितैषी, उच्च पोषक तत्व उपयोग क्षमता वाला एक अनोखा उर्वरक है, जो लंबे समय में प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग कम करने की दिशा में एक टिकाऊ समाधान है, क्योंकि यह नाइट्रस ऑक्साइड के उत्सर्जन को कम कर देता है तथा मृदा, वायु एवं जल निकायों को दूषित नहीं करता है।

खबरें और भी हैं...