पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:कृषि कानूनों के विरोध में डालटनगंज स्टेशन पर 45 मिनट जाम रहा रेल ट्रैक

मेदिनीनगर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वाम लोकतांत्रिक मोर्चा में शामिल संगठनों ने मालगाड़ी को रोका और पटरी पर बैठ विरोध किया

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ पूरे देश में किसान संगठन के लोग रेल की पटरियों पर उतरे। झारखंड के कई जिलों में भी रेल पटरियों पर जबरदस्त प्रदर्शन किया गया। इससे पलामू जिला भी अछूता नहीं रहा। यहां भी वाम लोकतांत्रिक मोर्चा ने निर्धारित अवधि दोपहर 12 बजे से 4 बजे तक रेल को रोककर अपना विरोध दर्ज कराने की घोषणा की थी।

रेलवे और जिला प्रशासन ने विरोध को विफल करने के लिए पहले से तैयारियां की थीं लेकिन इसके बाद भी वाम लोकतांत्रिक मोर्चा ने 45 मिनट रेल पटरी को जाम किया। वाम लोकतांत्रिक मोर्चा में शामिल विभिन्न संगठन के लोग गुरुवार को दोपहर 1.05 बजे डालटनगंज रेलवे स्टेशन पहुंचे और अप-डाउन लाइन पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने पटरी से गुजर रही मालगाड़ी के इंजन को रोक दिया और पटरी पर बैठ गए। 1.42 बजे के करीब जबलपुर-हावड़ा शक्तिपुंज एक्सप्रेस तीन नंबर प्लेटफार्म पर पहुंची तो प्रदर्शनकारी अप/डाउन लाइन को छोड़कर लूप लाइन पर पहुंच गए और उन्होंने ट्रेन को रोकने का प्रयास किया।

हालांकि वहां पहले से तैनात सदर एसडीओ अजय सिंह बड़ाईक, सदर बीडीओ अजफर हसनैन, शहर थाना प्रभारी अरुण कुमार महथा, आरपीएफ के दरोगा वीर प्रताप सिंह ने प्रदर्शनकारियों को समझा-बुझा कर रेल पटरी से हटाने का कार्य किया। इस कारण पांच मिनट तक शक्तिपुंज एक्सप्रेस प्लेटफार्म खड़ी रही। 1.50 बजे प्रदर्शनकारियों के रेल पटरी से हटने के बाद शक्तिपुंज एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखलाकर रवाना किया गया।
भाकपा जिला सचिव ने कहा- किसान विरोधी है यह कानून

रेल चक्का जाम के दौरान भाकपा के जिला सचिव रुचिर कुमार तिवारी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने अडानी,अंबानी जैसे कॉरपोरेट के हित के लिए कृषि सुधार के नाम पर किसान विरोधी काला कानून बनाया है, जिसे देश के किसान के साथ-साथ आम जनता कभी बर्दाश्त नहीं करेगी। भाकपा माले के जिला सचिव आरएन सिंह ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री का किसान आंदोलनकारियों को आंदोलनजीवी कहना शर्मनाक है।

देश की स्वतंत्रता भी आंदोलन की देन है। क्या प्रधानमंत्री की नजर में स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल लोग भी आंदोलनजीवी है? भाकपा के राज्य कार्यकारिणी सदस्य सूर्यपत सिंह ने कहा कि मोदी सरकार किसान आंदोलन को दबाने के लिए मुखर पत्रकारों को जेल भेज रहा है, नेताओं पर फर्जी मुकदमा किया जा रहा हैं। झारखंड क्रांति मंच के केंद्रीय अध्यक्ष शत्रुघ्न कुमार ने कहा कि सरकार ने कृषि कानून बनाकर ना सिर्फ देश के अन्नदाताओं के साथ धोखा किया है, बल्कि किसान-मजदूर-व्यापारी के साथ भी छल किया है, जो बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

रेल चक्का जाम में इनकी रही सहभागिता: रेल चक्का जाम में वाम लोकतांत्रिक मोर्चा के बैनर तले लोकतंत्र बचाओ मोर्चा के रवि पाल, सीपीआई के जितेंद्र सिंह, ललन कुमार सिन्हा, भाकपा माले के रविंद्र कुमार भुइयां, दिव्या भगत, दानिश कुमार, दिहाड़ी मजदूर यूनियन के गौतम कुमार, गीता देवी, जमालुद्दीन, एआईएसएफ के जिला अध्यक्ष सुजीत पांडे उर्फ विदेशी पांडे, इप्टा के शैलेंद्र कुमार, राजीव शामिल थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें