सुविधा बढ़ी:रांची से उत्तर भारत दर्शन यात्रा स्पेशल ट्रेन, राम और कृष्ण जन्म भूमि का कर सकेंगे दर्शन

मेदिनीनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रांची से 12 दिसंबर को रवाना होगी ट्रेन, बोकारो, धनबाद, आसनसोल व जामताड़ा होते हुए पटना और वैष्णो देवी तक जाएगी

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन लिमिटेड( आइआरसीटीसी) ने रांची से वैष्णो देवी और राम/ कृष्ण जन्मभूमि समेत अन्य धार्मिक व दर्शनीय स्थलों की यात्रा के लिए उत्तर भारत दर्शन यात्रा ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। यह ट्रेन रांची से 12 दिसंबर को रवाना होगी। ट्रेन बोकारो, धनबाद, आसनसोल व जामताड़ा होते हुए पटना पहुंचेगी और वैष्णो देवी तक जाएगी। ट्रेन श्रद्धालुओं और पर्यटकों को आठ रात और नौ दिन का सफर कराएगी। आईआरसीटीसी के मुख्य पर्यवेक्षक निखिल कुमार (कोलकाता), मुकेश प्रसाद (रांची) ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि यह ट्रेन 12 दिसंबर को रांची से सुबह 7 बजे रवाना होगी। रात में पटना पहुंचेगी। 13 की सुबह बक्सर व ट्रेन 14 दिसंबर को वैष्णो देवी पहुंचेगी और वैष्णो देवी से 15 दिसंबर को इसकी वापसी होगी। ट्रेन 16 को हरिद्वार व18 दिसंबर को मथुरा पहुंचेगी। 19 दिसंबर को ट्रेन फैजाबाद पहुंचेगी और अयोध्या में राम मंदिर राम जन्मभूमि के दर्शन कराए जाएंगे। साथ ही कृष्ण जन्मभूमि मथुरा, वृंदावन और हरिद्वार के भी दर्शन कराए जाएंगे।

टिकट बुकिंग में दिक्कत हो तो हेल्पलाइन नंबर पर करें फोन : इस ट्रेन के टिकट के लिए रांची और धनबाद रेलवे स्टेशन पर मौजूद फूड प्लाजा पर टिकट बुक कराए जा सकते हैं। जहां बोर्डिंग प्वाइंट हैं वहां के काउंटर से भी टिकट ले सकते हैं। अगर किसी को कोई दिक्कत हो रही है तो वह हेल्पलाइन नंबर 9625532437 और 9310235033 पर संपर्क कर सकते हैं।

एसी कोच का 14175 रुपए और नाॅन एसी का 8505 रुपए का है पैकेज

आईआरसीटीसी के अधिकारियों ने बताया कि इस ट्रेन के लिए किफायती दर पर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन का शुल्क नॉन एसी कोच के लिए 900 रुपए और एसी कोच के लिए 1500 रुपए रखा गया है। 9 दिन की दर्शन यात्रा का नाॅन एसी का कुल किराया 8505 रुपए रखा गया है। जबकि एसी का किराया 14175 रुपए रखा गया। अब तक 500 से अधिक सीटों की बुकिंग हो चुकी है।

बताया कि एसी कोच के यात्रियों के लिए थर्ड एसी क्लास में यात्रा के अलावा होटल में रात्रि विश्राम, शाकाहारी भोजन, चाय, काफी, नाश्ता, लंच और डिनर की व्यवस्था की जाएगी। वहीं, दूसरी ओर नाॅन एसी यात्रियों के लिए स्लीपर क्लास में यात्रा की सुविधा दी जाएगी। रात्रि विश्राम धर्मशाला में कराया जाएगा। शाकाहारी भोजन, चाय, काफी, नाश्ता, लंच व डिनर की व्यवस्था रहेगी।

कोविड-19 गाइडलाइन का किया जाएगा पालन, कोच-पैंट्री कार होगी सैनिटाइज
बताया गया कि यात्रा के संचालन के दौरान कोविड-19 गाइडलाइन का अनुपालन होगा। ट्रेन के सभी कोच और पैंट्री कार को समय-समय पर सैनिटाइज होंगे। होटल व धर्मशाला की डोरमेट्री और रूम्स गेस्ट के चेक इन होने के पहले सैनिटाइज होंगे। यात्रियों को पीने के लिए गर्म पानी उपलब्ध कराया जाएगा। यात्रियों को बोर्डिंग के समय हैंड सैनिटाइजर, फेस मास्क, फेस शील्ड और हैंड ग्लव्स दिया जाएगा।

ट्रेन में सभी यात्रियों के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य किट उपलब्ध होगी। हर यात्री कोच में दो कंपार्टमेंट खाली छोड़ दिए जाएंगे। यात्रा के दौरान अगर किसी यात्री में कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो‌ इसी कंपार्टमेंट में उन्हें तुरंत क्वारेंटाइन किया जाएगा। कोरोना के कारण यदि कोई यात्रा कैंसल करता है तो उसको फुल रिफंड दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...