तैयारी:इस बार पिछले साल से दोगुने हो सकते हैं श्रद्धालु, अमानत और कोयल के घाट तैयार

मेदिनीनगर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेहला कोयल नदी छठघाट को पोकलेन से गहरीकरण व दुरुस्त करने में जुटे समिति के लोग। - Dainik Bhaskar
रेहला कोयल नदी छठघाट को पोकलेन से गहरीकरण व दुरुस्त करने में जुटे समिति के लोग।
  • कोरोना से राहत मिलने के बाद बढ़ेगी श्रद्धालुओं की संख्या, गाइडलाइन का होगा पालन

पलामू में छठ की तैयारी जोर-शोर से हो रही है। शहर और ग्रामीण इलाकाें में इसे लेकर खास इंतजाम किए जा रहे हैं। छठ व्रतियों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो, इसके लिए काेयल, अमानत आदि नदी तट से लेकर विभिन्न जलाशयों को तैयार करने का काम हो रहा है। कोरोना से राहत मिलने के बाद माना जा रहा है कि इस बार बड़ी संख्या में श्रद्धालु घाटों पर आएंगे। उम्मीद है कि पिछले साल से ये दोगुने होंगे। अधिकारियाें ने काेराेना गाइडलाइन का पालन पूरी तरह करने का निर्देश दिया है। दूसरी और घाटाें की सफाई का काम जाेर-शाेर से जारी है।

गाइडलाइन का अनुपालन कर करें छठ पूजा : एसडीओ
मेदिनीनगर|सदर एसडीओ राजेश कुमार शाह ने महापर्व छठ पूजा को लेकर अनुमंडल कार्यालय में बैठक की। इसमें उन्होंने छठ पूजा समिति के सदस्यों काे गाइडलाइन में दिए गए दिशा निर्देशों की जानकारी दी। सदस्यों को बताया गया कि छठ पूजा को लेकर राज्य सरकार ने आठ बिंदुओं पर गाइडलाइन जारी किया है। गाइडलाइन के तहत नदी, तालाब व पोखर वाले स्थानों पर कम संख्या और शारीरिक दूरी के नियमों के तहत पूजा करने, नदी, तालाब के किनारे कोई स्टॉल नहीं लगाने, पटाखा पर प्रतिबंध, सभी प्रकार के सामाजिक, संगीत मनोरंजक व सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रतिबंधित है।

खबरें और भी हैं...