जिंदगी कीमती, हताशा में न गंवाएं / झारखंड में 24 घंटे में 12 खुदकुशी; 6 ने बेरोजगारी के कारण जान दी

12 suicides in 24 hours in Jharkhand, 6 killed due to unemployment
X
12 suicides in 24 hours in Jharkhand, 6 killed due to unemployment

  • सुसाइड करने वालों में 8 पुरुष और 4 महिलाएं
  • जान देने वालों में 7 लोग 25 साल से कम उम्र के

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 09:31 AM IST

रांची. राज्य में आत्महत्या के मामले बढ़ गए हैं। मंगलवार को राज्य में 12 लोगों ने खुद को खत्म कर डाला। इनमें आठ पुरुष और 4 महिलाएं हैं। पुरुषों में पांच 25 साल से लेकर 20 साल तक के युवक हैं। वहीं चार महिलाओं में एक महज 19 तो दूसरी 22 साल की युवती है। पुलिस की प्रारंभिक छानबीन में आत्महत्याओं के कारण प्रेम प्रसंग, बेरोजगारी और घरेलू विवाद से पनपा विवाद है।

प्रेस प्रसंग मामले में जहां तीन युवक-युवतियों ने सुसाइड किया है, वहीं लॉकडाउन में काम नहीं मिलने और बेरोजगारी के कारण तनाव में आकर छह लोगों ने अपनी इहलीला समाप्त कर ली है। हालांकि, इनमें से एक मामले में धंधा नहीं चलना भी शामिल है। वहीं बुंडू की नर्स द्वारा आत्महत्या करने के पीछे राशि गबन का आरोप लगाने की बात सामने आई है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के अनुसार, राज्य में एक दिन में आत्महत्या की ये सबसे अधिक घटनाएं हैं।

प्रेम प्रसंग और घरेलू विवाद भी रही वजह

कोडरमा : कैटरिंग बंद था, फांसी लगाई 
तिलैया में मनोज केसरी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह कैटरिंग का काम करता था। लॉकडाउन के कारण काम नहीं मिलने से तनाव में चल रहा था। 
काम नहीं मिल रहा था, ट्रेन से कटा
मडुआटांड़ के पास हजारीबाग के बरकट्ठा निवासी हीरालाल शर्मा ने ट्रेन से कटकर जान दे दी। पेशे से ट्रक ड्राइवर हीरालाल काम बंद होने से तनाव में था।
धनबाद : बेरोजगारी के तनाव में दी जान
जोरापोखर के डिगवाडीह में गोपाल वर्मा ने मंगलवार दाेपहर फांसी लगा ली। काम नहीं मिलने से वह तनाव में था। घटना के वक्त परिजन तिलक चढ़ाने गए थे। 
कोचिंग ठप होने से परेशान संचालक ने दी जान
बोर्रागढ़ ओपी क्षेत्र में कोचिंग संचालक मुकेश कुमार ने अपने घर में फांसी लगा ली। इन दिनों काेचिंग सेंटर नहीं चलने से मुकेश काफी परेशान चल रहे थे। 
हजारीबाग : तय थी शादी, दोनों ने जान दी
कारीडीह चतरो चट्टी जंगल में निमियाघाट गिरिडीह के अनिल हांसदा ने पेड़ से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वहीं आंगो थाना क्षेत्र के कारीडीह गांव की सुमन ने जहर खा लिया। दोनों की शादी तय थी।
गढ़वा : बेरोजगारी से परेशान, फांसी लगाई
रमकंडा के खरिहानी टोला निवासी सूरज भुइयां ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस के अनुसार, सूरज की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी।
पलामू :घरेलू विवाद में गर्भवती ने दी जान
चैनुपर के लादी गांव निवासी अकलू भुईयां (30) की पत्नी सविता देवी ने घरेलू विवाद में आत्महत्या कर ली है। पुलिस के अनुसार घर में मामूली विवाद हुआ था।
रांची : गबन का आरोप, नर्स ने लगाई फांसी
बुंडू स्थित अमृता नर्सिंग होम सेवा सदन में अड़की की नर्स गीता ने फांसी लगा ली। सुसाइट नोट के अनुसार, डॉक्टर ने नर्स गीता पर पैसा गबन का आरोप लगाया था। इससे वह मानसिक दबाव में थी।
जमशेदपुर : प्रेमिका की शादी, फंदे से झूला
पटमदा में प्रेमिका की शादी होने से बागुनहातू बारीडीह के युवक संदीप चंद्र ने बोड़ाम के बाेंटा जंगल में फांसी लगा ली। उससे पहले परिजनों को फोन किया था।
चाईबासा : बेरोजगार था, मकान से कूदा
तमाड़बांध में मंगल सिंह गाेप ने मकान से कूदकर जान दे दी। वह तीन साल से बेरोजगार था। इधर, तांतनगर में सुमित्रा तियू घरेलू विवाद में फंदे से झूल गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना