पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • 3239 Crores In 4 Months This Year As Compared To Last Year Due To Continuation Of Manufacturing Activities. Increased GST Collection

ऑनलाइन बिक्री:मैन्यूफैक्चरिंग गतिविधियां जारी रहने से, पिछले साल के मुकाबले इस साल 4 माह में 3239 कराेड़ रु. बढ़ा जीएसटी कलेक्शन

रांची18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इस साल अप्रैल में सबसे ज्यादा 2956 करोड़ रुपए हुआ जीएसटी का कलेक्शन - Dainik Bhaskar
इस साल अप्रैल में सबसे ज्यादा 2956 करोड़ रुपए हुआ जीएसटी का कलेक्शन
  • झारखंड में कोरोना के बावजूद बढ़ रहा जीएसटी कलेक्शन
  • कोरोना के मामले घटते ही इस साल की शुरुआत में सभी उद्योगों में 100 प्रतिशत क्षमता के साथ शुरू हो गया था काम, डिमांड भी ज्यादा

झारखंड में काेराेना महामारी की दूसरी लहर के बीच अर्थव्यवस्था की सेहत अच्छी रही। जीएसटी कलेक्शन (वस्तु एवं सेवा कर संग्रह) इसका संकेत दे रहा है। पिछले साल जनवरी से अप्रैल तक राज्य में कुल जीएसटी कलेक्शन 6747.98 कराेड़ रुपए हुआ था। इस साल चार महीने में यह बढ़कर 9987.52 कराेड़ रुपए हाे गया। यानी 3239.54 कराेड़ रुपए का इजाफा हुआ। पिछले साल अप्रैल में महज 600.55 कराेड़ रुपए जीएसटी कलेक्शन हुआ था, जबकि इस साल अप्रैल में सबसे ज्यादा 2956.26 कराेड़ जमा हुए।

झारखंड स्माॅल स्केल इंडस्ट्रीज एसाेसिएशन (जेसिया) के अध्यक्ष पी मैथ्यू ने कहा कि राज्य में इस बार बेहतर तरीके से लाॅकडाउन लगाया गया। ऑनलाइन बिक्री और मैन्यूफैक्चरिंग गतिविधियां पूरी तरह से जारी रहीं। देश-विदेशाें में माल की सप्लाई निरंतर हाेती रहीं। टाटा-स्टील, बीएसएल और एचईसी जैसी बड़ी कंपनियाें ने भी 100 प्रतिशत क्षमता के साथ उत्पादन किया। उधर, झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष प्रवीण जैन छाबड़ा ने कहा कि काेराेना के मामले घटते ही इस साल के शुरुआती दिनाें में ही सभी उद्याेग-धंधे पीक पर आ गए थे। बड़े उद्याेग 100 प्रतिशत क्षमता के साथ काम करने लगे थे। डिमांड भी काफी बढ़ गई थी। सरकार का मैनेजमेंट भी बेहतरीन था। यही कारण रहा कि काेराेना काल में भी जीएसटी कलेक्शन लगातार बढ़ रहा है।

जीएसटी कलेक्शन बढ़ने की वजह

1. राज्य में मिनी लाॅकडाउन लगा, जिससे मैन्यूफैक्चरिंग गतिविधियां जारी रहीं। 2. साेशल डिस्टेंसिंग के लिए लाेगाें ने पब्लिक ट्रांसपाेर्ट से दूरी बनाई और कारें खरीदीं। 3. लाॅकडाउन के दाैरान कंस्ट्रक्शन का काम जारी था, इससे भी जीएसटी कलेक्शन बढ़ा। 4. ऑनलाइन सप्लाई जारी रही, लाेगाें ने ऑनलाइन खूब खरीदारी की। 5. राज्य के अंदर और बाहर सामानाें की सप्लाई में काेई रुकावट नहीं आई। 6. मार्च में कंपनियाें पर टार्गेट पूरा करने का दबाव था, इसलिए डिस्ट्रीब्यूटराें काे बिक्री बढ़ाने काे कहा।

झारखंड डिस्ट्रीब्यूशन एसाेसिएशन (कंज्यूमर प्रोडक्ट्स) के सचिव संजय अखाैरी के मुताबिक इस साल अप्रैल के दूसरे पखवाड़े और मई में रांची में कंज्यूमर प्राेडक्ट की ऑनलाइन बिक्री 4 गुना बढ़ी है।

खबरें और भी हैं...