ग्रीन ड्रीम फाउंडेशन:सीएसआर फंड से राजधानी का एक वार्ड बनेगा मॉडल, बायो फ्यूल बनाने का भी निगम को मिला प्रस्ताव

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रांची शहर को स्वच्छ, सुंदर और रमणीक बनाने में रांची नगर निगम जुटा है। अब निगम प्राइवेट संस्थानों की भी इसमें मदद लेगा। इसके लिए बुधवार को ग्रीन ड्रीम फाउंडेशन और मोर माइलेज संस्थान के द्वारा नगर आयुक्त के समक्ष प्रजेंटेशन दिया गया। इसमें फाउंडेशन के प्रतिनिधि ने सीएसआर फंड से शहर के 15 हजार वर्ग फीट की दीवार पर वॉल पेंटिंग करने का प्रजेंटेशन दिया।

उन्होंने जीरो वेस्ट मैनेजमेंट प्रणाली के तहत ठोस कूड़ा को अलग-अलग करने और कंपोस्ट बनाने की जानकारी दी। इसके लिए कंपनी ने एक वार्ड का चयन करने की मांग की, जिसे मॉडल वार्ड के रूप में विकसित किया जा सके। कंपनी के प्रतिनिधि ने बताया कि यह काम सीएसआर फंड से किया जाएगा। इसके बदले निगम से एक रुपए नहीं लिए जाएंगे।

नगर आयुक्त ने जल्द ही एक वार्ड का चयन कर कंपनी को हैंडओवर करने की बात कही। दूसरी ओर, मोर माइलेज संस्था के प्रतिनिधियों ने बायो फ्यूल बनाने का प्रस्ताव दिया। उन्होंने बताया कि शहर के अंदर स्थित डैम और तालाब में अधिक मात्रा में शैवाल विकसित करने होंगे।

वहां की जल की पीएच वैल्यू सुधरेगी। जल साफ होगा तो एयर क्वाॅलिटी भी सुधरेगी और लोगों को स्वच्छ जल स्वच्छ हवा मिलेगी। नगर आयुक्त ने कहा कि वे जल्द ही इस दिशा में आगे की कार्रवाई करेंगे, ताकि शहर के लोगों को साफ व स्वच्छ वातावरण मिले। मौके पर उपनगर आयुक्त रजनीश कुमार और सहायक नगर आयुक्त शीतल कुमारी सहित अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे।

पार्किंग में ठेला लगाने वालाें काे निगम ने भेजा नाेटिस

दूसरी ओर, रांची नगर निगम ने एमजी राेड स्थित एक माॅल के पास बंदोबस्त किए गए पार्किंग स्थल में ठेला-खाेमचा व मोबाइल फूड वैन लगवाने वाले ठेकेदार काे नाेटिस भेजा है। ठेकेदार मीठू वर्मा काे नाेटिस भेजकर निगम ने कहा है कि आपने 2.50 लाख की बाेली लगाकर पार्किंग का ठेका लिया है। लेकिन, पार्किंग स्थल पर अवैध रूप से ठेला, खाेमचा और मोबाइल फूड वैन पाया गया। दोबार फूड वैन मिला ताे ठेका रद्द करते हुए ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...