गुड न्यूज / 37 दिनों तक रेड जोन में रहने के बाद रांची लाैटी ऑरेंज जोन में, अब सिर्फ 15 ही एक्टिव केस, 95 मरीज स्वस्थ हो लौटे घर

अच्छा सन्नाटा... अच्छा सन्नाटा...
X
अच्छा सन्नाटा...अच्छा सन्नाटा...

  • 7 से 22 मई के बीच सिर्फ 14 ही कोराेना संक्रमित मिले, जबकि 15 अप्रैल को राज्य में 50 फीसदी पॉजिटिव रांची के ही थे
  • जल्द आएंगे ग्रीन जोन में...7 मई से पॉजिटिव केस मिलने पर लगी लगाम, माइक्रो कंटेनमेंट जोन से भी हटा सील

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:26 AM IST

रांची. रांची के लोग बहुत दिनों के बाद सुकून में हैं। क्याेंकि लंबे इंतजार के बाद रांची 22 मई को रेड जाेन से ऑरेंज जोन में पहुंची। 31 मार्च से रांची में संक्रमित मरीजों के मिलने का सिलसिला जो शुरू हुआ, वह बढ़ते चला गया। 15 अप्रैल को रांची में संक्रमितों की संख्या पूरे राज्य के 50 प्रतिशत हो गई। जहां पूरे राज्य में 28 कोरोना संक्रमित थे, वहीं 15 अप्रैल को रांची में 14 पहुंच गई थी। ऐसे में रांची को रेड जोन घोषित कर दिया गया। जिन क्षेत्रों से संक्रमित मिल रहे थे उन्हें सील किया जाने लगा। सबसे ज्यादा संक्रमित हिंदपीढ़ी से मिल रहे थे।

सबसे पहली संक्रमित भी हिंदपीढ़ी से ही मिली थी। हिंदपीढ़ी को सबसे पहले सील किया गया। इस दौरान रांची  रेड जोन में आ गई और 37 दिनों तक रेड जोन में रहने के बाद ऑरेंज जोन में आई। इन 37 दिनों के दौरान रांची में सन्नाटा पसर गया था। पुलिस प्रशासन कंटेनमेंट एरिया और लोगों की सुरक्षा में तैनात था तो वहीं स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों के इलाज और कोरोना को फैलने से रोकने में लगा रहा। 
7 मई को रांची में पॉजिटिव केस मिलने पर लगाम लगी। हालांकि, पलामू में 5 केस मिले थे। इसके बाद से राज्य के अन्य जिलों में संक्रमित बढ़ रहे थे, लेकिन रांची में संक्रमित मिलने कम हो गए।  7-22 मई के बीच रांची में केवल 14 ही संक्रमित मिले। इसके कारण रांची ऑरेंज जोन में पहुंची।

ऑरेंज जोन में आने का कारण तत्परता और संक्रमितों की कम उम्र
रांची के ऑरेंज जोन में पहुंचने का मुख्य कारण प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की तत्परता व संक्रमित होने के बावजूद उनमें लक्षण कम दिखना है। पुलिस प्रशासन ने सख्ती से हिंदपीढ़ी पर अपनी नजर बनाई। वहीं दूसरी ओर यहां जो भी संक्रमित मिले, उनमें अधिकतर कम उम्र के थे। युवा होने के कारण उनमें संक्रमण के लक्षण दिखाई नहीं दे रहे थे। या फिर उन पर कोरोना ज्यादा असर नहीं डाल पाया।
एक्सपर्ट व्यू, डॉ डीके सिंह, रिम्स निदेशक

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना