झारखंड के पूर्व CM के सलाहकार पर शोषण का आरोप:सिविल कोर्ट के बाद अब सुनील तिवारी हाई कोर्ट में जमानत के लिए गए, अपने खिलाफ लगे आरोपों को बताया बेबुनियाद

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यौन शोषण और दुष्कर्म के आरोपी सुनील तिवारी को निचली अदालत ने अग्रिम जमानत देने से इंकार कर दिया था। जिसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट में अपनी जमानत के लिए गुहार लगाई है।(फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
यौन शोषण और दुष्कर्म के आरोपी सुनील तिवारी को निचली अदालत ने अग्रिम जमानत देने से इंकार कर दिया था। जिसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट में अपनी जमानत के लिए गुहार लगाई है।(फाइल फोटो)

झारखंड के पूर्व CM बाबूलाल मरांडी के सलाहकार सुनील तिवारी ने अग्रिम जमानत के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। अदालत से उनके खिलाफ लगे आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए जमानत देने का आग्रह किया गया है। सुनील तिवारी पर एक युवती ने दुष्कर्म और यौन शोषण करने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है।

इसके पहले सुनील तिवारी ने निचली अदालत में अग्रिम जमानत दायर की थी, जिसे खारिज कर दिया गया था। सुनील तिवारी पर उनके घर में काम करने वाली युवती ने आरोप यौन शोषण का आरोप लगाया है। इसकी जांच पुलिस कर रही है। इस मामल में अभी सुनील तिवारी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

सुनील तिवारी के खिलाफ जारी है गिरफ्तारी का वारंट
यौन शोषण और दुष्कर्म के आरोपी सुनील तिवारी को निचली अदालत ने अग्रिम जमानत देने से इंकार कर दिया था। जिसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट में अपनी जमानत के लिए गुहार लगाई है। इससे पहले अरगोड़ा थाना में दर्ज केस के आईओ ने न्यायालय से वारंट प्राप्त कर लिया है।

खबरें और भी हैं...