मामले की जांच:राज्यपाल के दखल के बाद, थानेदार रूपा तिर्की की माैत की न्यायिक जांच होगी

रांची4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतका रूपा तिर्की - Dainik Bhaskar
मृतका रूपा तिर्की
  • झारखंड हाईकाेर्ट के पहले चीफ जस्टिस विनोद कुमार गुप्ता करेंगे मामले की जांच
  • छह महीने में आयोग को सौंप देनी है रिपाेर्ट, एसआईटी की जांच भी जारी रहेगी

साहिबगंज महिला थाना प्रभारी रांची के काठीटांड़ निवासी रूपा तिर्की की माैत की न्यायिक जांच हाेगी। राज्यपाल द्राैपदी मुर्मू के हस्तक्षेप के बाद मंगलवार काे मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन ने न्यायिक जांच के आदेश दिए। इसके लिए झारखंड हाईकाेर्ट के पहले चीफ जस्टिस विनाेद कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में एक सदस्यीय आयाेग का गठन किया। यह आयाेग छह महीने में अपनी रिपाेर्ट देगा। अभी इस मामले की जांच एसआईटी कर रही है। उसकी जांच जारी रहेगी। जस्टिस गुप्ता अलग से सरकार काे रिपाेर्ट साैंपेंगे।

रूपा तिर्की की माैत के बाद से ही इस मामले की सीबीआई या किसी स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराने की मांग उठ रही थी। रविवार काे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल से मिला था और रूप तिर्की हत्याकांड की सीबीआई जांच कराने का आग्रह किया था। उन्हाेंने पुलिस की जांच पर असंताेष जताया था। इसके बाद साेमवार काे राज्यपाल ने डीजीपी नीरज सिन्हा काे राजभवन तलब किया और केस की जांच सही दिशा में करने का आदेश दिया। सीएम द्वारा न्यायिक जांच का आदेश देने के बाद झामुमाे ने कहा कि माैत पर राजनीति करने वाली भाजपा के मुंह पर यह तमाचा है।

3 मई काे सरकारी आवास में मिला था शव

रूपा तिर्की का शव तीन मई काे साहिबगंज स्थित सरकारी आवास में फांसी पर लटकता मिला था। रूपा के माेबाइल पर उसके बैचमेट चाईबासा में तैनात दाराेगा शिव कुमार कनाैजिया का था। पुलिस ने नाै मई काे कनाैजिया काे रूपा काे आत्महत्या के लिए उकसाने के आराेप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उसे सस्पेंड भी कर दिया गया और विभागीय कार्यवाही भी शुरू कर दी गई।

खबरें और भी हैं...