प्रस्ताव पर मुहर:शहर में बिना नक्शा के बने 1.50 लाख भवनों को नियमित करने पर सहमति

रांची8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मेयर-नगर आयुक्त के बीच 6 माह बाद सुलह, निगम परिषद की बैठक संपन्न
  • मंजूरी के लिए 4 को विभाग के पास भेजे जाएंगे प्रस्ताव
  • अपर बाजार होगा जाममुक्त, बकरी बाजार में बनेगी पार्किंग

आखिरकार मेयर आशा लकड़ा और नगर आयुक्त मुकेश कुमार में सुलह हो गई, जिससे 6 माह बाद नगर निगम परिषद की बैठक संपन्न हाे गई। मेयर की अध्यक्षता में बैठक में जनता से जुड़े दो महत्वपूर्ण मुद्दों पर सहमति भी बनी। इसके तहत बिना नक्शे के बने 1.50 लाख घराें को उसी अवस्था में नियमित करने और नदी के 15 मीटर के दायरे में बने भवनों को नियमित करने के प्रस्ताव पर मुहर लगाई गई।

ये प्रस्ताव मेयर और डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय की ओर से रखे गए, जिन पर सभी पार्षदों ने एकमत से पारित कर दिया। नगर आयुक्त ने कहा कि 4 अक्टूबर को यह प्रस्ताव नगर विकास विभाग को भेजा जाएगा। इसके बाद डिप्टी मेयर ने कहा कि अपर बाजार को जाममुक्त करने के लिए बकरी बाजार में पार्किंग बने। इस पर पार्षदों ने सहमति दी।

ये था विवाद का कारण

1 मेयर ने 25 मार्च 2021 को 5 एजेंडे रोके थे। फिर भी बैठक में ये एजेंडे रखे गए और स्वीकृत भी हो गए। विवाद की शुरुआत यही से शुरू हुई।

2 मेयर और नगर आयुक्त के बीच विवाद उस समय और बढ़ गया, जब मेयर ने निगम अधिकारियों के खिलाफ बयान दिया।

सुलह के बाद

मेयर बोलीं- गलती हुई, बात वापस लेती हूं

गलती से ही कुछ बातें मुंह से निकल गईं। मेरी बाताें से अधिकारियों काे आहत पहुंचा है ताे मैं गलती मानते हुए उसे वापस लेती हूं। पुरानी बातें भूल जाएं।

नगर आयुक्त बोले- मेयर हमारी अभिभावक

मेयर हमलोगों की अभिभावक हैं। गलती कोई मान ले तो उस विवाद को छोड़कर हम सभी अधिकारियों को जनहित में आगे बढ़ना चाहिए।

दीपक प्रकाश ने मेयर को मनाया, विनय चौबे ने नगर आयुक्त को

मेयर और नगर आयुक्त के बीच चल रहे विवाद में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश और नगर विकास सचिव विनय चाैबे ने हस्तक्षेप कर विराम दिया। दीपक प्रकाश ने मेयर काे और विनय चाैबे ने नगर आयुक्त काे मनाया। भाजपा अध्यक्ष ने मेयर से कहा कि विवाद से शहर का विकास कार्य प्रभावित होता है।

त्योहार के समय में गलत संदेश जा रहा है, इसे तुरंत खत्म करें। वहीं विनय चौबे ने नगर आयुक्त से कहा कि शहर के विकास के लिए जनप्रतिनिधियों को साथ लेकर चलें। इनके समझाने के बाद डिप्टी मेयर नगर आयुक्त और मेयर से मिले, जिसमें दोनों ने आपसी सुलह पर सहमति दी।

खबरें और भी हैं...