झारखंड में 100 किसान मेले का होगा आयोजन:कृषि मंत्री ने कहा- राज्य के 2.58 लाख किसानों का लोन माफ, अब अधिकारी बताएंगे उनका अधिकार

रांची3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कृषि मंत्री ने बताया कि इस साल 60 की जगह 62 क्विंटल धान की हुई खरीदारी। अगले साल 80 क्विंटल का रखा जाएगा लक्ष्य। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
कृषि मंत्री ने बताया कि इस साल 60 की जगह 62 क्विंटल धान की हुई खरीदारी। अगले साल 80 क्विंटल का रखा जाएगा लक्ष्य। (फाइल फोटो)

झारखंड में 100 किसान मेले का आयोजन किया जाएगा। इसमें किसानों को कृषि व पशुपालन से जुड़ी केंद्र व राज्य संपोषित योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी जाएगी। इसके साथ ही इसमें राज्य के वंचित किसानों को योजनाओं से जोड़ा भी जाएगा।मेले के आयोजन में कोविड गाइडलाइन का पूरा ख्याल रखा जाएगा।

इसकी जानकारी सोमवार को राज्य के कृषि पशुपालन एवं सहकारिता मंत्री बादल पत्रलेख ने दी। उन्होंने बताया कि अभी तक किसान ऋण माफी योजना के तहत राज्य के 5.79 लाख किसानों का डाटा अपलोड किया जा चुका है। इसके मुताबिक 2.58 लाख किसानों का ऋण माफ किया गया है।

कृषि मंत्री ने हा कि सरकार ने 9.02 लाख किसानों के ऋण माफी का लक्ष्य रखा था जो प्रक्रिया में है तथा अब तक 1036 करोड़ की राशि बैंकों को दी जा चुकी है।

600 लैंप्स पैक्स को देंगे वर्किंग कैपिटल
राज्य में कृषक को सशक्त करने के लिए और उन्हें सरकारी योजनाओं का समय लाभ मिले इसके लिए सभी लैंप्स और पैक्स को मजबूत बनाया जाएगा। इसके लिए राज्य के 600 लैंप्स पैक्स को कार्यशील पूंजी दी जाएगी। साथ ही उन्हें प्रज्ञा केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सहकारिता विभाग 5000 मेट्रिक टन क्षमता वाले कोल्ड स्टोरेज का निर्माण 19 स्थानों पर किया जा रहा है शेष 6 जिलों में भी स्वीकृति दी जा चुकी है।

तय लक्ष्य से 2 लाख क्विंटल अधिक धान की हुई खरीदारी
इस वित्तीय वर्ष में 60 लाख क्विंटल धान अधिप्राप्ति का लक्ष्य निर्धारित किया गया था उसके विरुद्ध हमने 103 प्रतिशत धान की अधिप्राप्ति करते हुए 62 लाख क्विंटल से ज्यादा धान की अधिप्राप्ति की है। अगले वित्तीय वर्ष में 80 लाख क्विंटल धान अधिप्राप्ति का लक्ष्य रखा गया है।