पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिलावार ऑडिटिंग:जिन निजी-सरकारी अस्पतालाें में काेराेना से ज्यादा माैतें हुईं, उन सबका होगा ऑडिट

रांची13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • काेराेना की दूसरी लहर में अब तक हाे चुकी हैं 3878 माैतें
  • सभी डीसी काे भेजा निर्देश, जिला स्तर पर कमेटियां भी बनाई गईं

झारखंड में काेराेना महामारी की दूसरी लहर (1 अप्रैल से 31 मई) में हुई माैताें का अब जिलावार ऑडिट हाेगा। स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में सभी जिलाें के डीसी काे यह आदेश जारी किया है। इसमें कहा गया है कि जिले के जिन निजी और सरकारी अस्पतालाें में इस दाैरान काेराेना या अन्य बीमारी से अधिक माैतें हुई हैं, उन सबकी जांच कराएं। माैताें के ऑडिट के लिए जिला स्तर पर कमेटी भी बनाई गई है।

इससे पहले राज्य के पांच जिलाें के चुनिंदा अस्पतालाें में माैताें का ऑडिट कराया जा रहा था। इनमें रिम्स, टीएमएच जमशेदपुर, हजारीबाग मेडिकल काॅलेज, बाेकाराे जनरल हाॅस्पिटल और शहीद निर्मल महताे मेडिकल काॅलेज धनबाद शामिल हैं। इस मुद्दे काे दैनिक भास्कर ने प्रमुखता से उठाया था कि सरकारी अस्पतालाें में माैत की ऑडिट ताे निजी अस्पतालाें और हाेम आइसाेलेशन में माैत की ऑडिट क्याें नहीं हाे रही।

कमेटी की रिपोर्ट की समीक्षा करेंगे डीसी

पांच जिलाें में माैताें का ऑडिट कराने के लिए गठित कमेटी काे 31 मई तक रिपाेर्ट देने काे कहा गया था। लेकिन अब तक कमेटी ने रिपाेर्ट नहीं साैंपी है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी काे जिला स्तर पर गठित इस कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है। वहीं जिला सर्विलांस पदाधिकारी, मेडिकल काॅलेज के मेडिसिन विभाग के चिकित्सा या डब्लूएचओ-यूनिसेफ के पदाधिकारी, जिला महामारी रोग विशेषज्ञ और जिला कार्यक्रम प्रबंधक को सदस्य के रूप में शामिल किया गया है। इस कमेटी की रिपाेर्ट के बाद संबंधित जिलाें के डीसी उसकी समीक्षा करेंगे।

दूसरी लहर में राज्य की मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से अधिक

काेराेना की दूसरी लहर में एक अप्रैल से 31 अप्रैल के बीच झारखंड में 3878 लाेगाें की माैत हुई। यहां का मृत्यु दर 1.48 पर पहुंच गया, जबकि छह जून तक मृत्यु दर का राष्ट्रीय औसत 1.20 प्रतिशत था। यानी झारखंड में मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से भी 0.28 प्रतिशत अधिक पर पहुंच गया था। हालांकि पिछले कुछ दिनाें से मृत्यु दर घटी है। वहीं संक्रमण मामलाें में भी अब तेजी से गिरावट आई है।

खबरें और भी हैं...