पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंतहा हो गई इंतजार की:हज कोटे का आवंटन 1 माह बाद भी नहीं, आवेदकों में बढ़ रही बेचैनी

रांची11 दिन पहलेलेखक: सरफराज कुरैशी
  • कॉपी लिंक
  • सेंट्रल हज कमेटी भी स्पष्ट बताने की स्थिति में नहीं

कोरोना संक्रमण के कारण बीते साल 2020 में हज यात्रा रद्द हो गई थी। संक्रमण की रफ्तार कम होने पर इस वर्ष हज यात्रा की उम्मीद जगी। लोगों ने आवेदन किया। लेकिन एक महीना से अधिक समय गुजरने के बावजूद अभी तक हज के कोटा का आवंटन नहीं हुआ। आवंटन की प्रक्रिया शुरू होने में देरी से हज पर जाने वाले आवेदक असमंजस की स्थिति में हैं।

पूर्व में प्रस्तावित हज यात्रा से करीब तीन-चार महीना पहले ही कोटा का आवंटन हो जाता था। इसके बाद यात्रा की पहली किस्त जमा हो जाती थी। हज के लिए प्रशिक्षण देना शुरू कर दिया जाता था। लेकिन सऊदी सरकार की ओर से अब तक कोटा आवंटित नहीं किए जाने से सेंट्रल हज कमेटी भी स्पष्ट कुछ बताने की स्थिति में नहीं है।

क्यों बढ़ रही है परेशानी : कोटा आवंटन नहीं होने से आवेदक इसलिए असमंजस की स्थिति में हैं कि अगर जमा हुए आवेदनों के अनुसार कोटा मिला तो हज पर सभी जा पाएंगे। लेकिन जमा हुए आवेदन से कम कोटा मिला तो लॉटरी करानी होगी। जिसके कारण कौन जाएंगे, कौन नहीं? इसकी दुविधा बरकरार रहेगी।

वर्ष 2019 में 2058 लोग गए थे

हज यात्रा के लिए बीते वर्ष नवंबर में आवेदन प्रक्रिया शुरू हुई थी। कम आवेदन आने पर तारीख दो बार आगे बढ़ाकर 10 जनवरी तक आवेदन लिए गए। इसके बाद भी झारखंड से कुल 1030 लोगों ने ही आवेदन किया। इनमें 589 पुरुष व 441 महिलाएं हैं। जबकि, वर्ष 2019 में 2058 आजमीन-ए-हज रवाना हुए थे।

इस बार कोरोना गाइडलाइन व महंगाई से भी घटे आवेदक

कम आवेदन के पीछे कारण यह भी है कि इस बार हज में जाने वाले यात्रियों का यात्रा खर्च 2.90 लाख से बढ़ाकर संभावित खर्च 3.69 लाख रुपए हो गया। दूसरी ओर बुजुर्ग, नाबालिग, गर्भवती महिलाओं और गंभीर रोग से पीड़ित व्यक्तियों को आवेदन करने की इजाजत नहीं मिलने के कारण भी आवेदकों की संख्या कम हुई। इसके अलावा यात्रा के समय को 10 दिन कम कर 40 की बजाय 30 दिन कर दिया गया है।

सऊदी से कोई डिक्लेरेशन नहीं, इस कारण रुकी हुई है प्रक्रिया

हज कोटा को लेकर सऊदी अरब गर्वमेंट की ओर से कोई डिक्लेरेशन नहीं है। भारत व सऊदी सरकार से एग्रीमेंट भी होना है। यह कार्य नहीं होने से हज की प्रक्रिया जहां थी वहीं रूकी हुई है। तीन महीने पहले ही लेट हो गए हैं। जब तक यह क्लियर नहीं होता है कुछ नहीं कहा जा सकता।’
-डॉ. मकसूद अहमद खान, सीईओ, हज कमेटी ऑफ इंडिया

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें