पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अल्ताफ हत्याकांड:अल्ताफ ने कहा था- जमीन हमने खरीदी है, जमीन मालिक व मध्यस्थ बोला; वह कब्जा कर रहा था

रांची21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इसी जमीन को लेकर हुआ मर्डर - Dainik Bhaskar
इसी जमीन को लेकर हुआ मर्डर
  • अल्ताफ की गाड़ी से मिले हैं विवादित जमीन के कागजात
  • मृतक के पिता मो. नासिर अंसारी और छोटा भाई मुख्तार अंसारी डोरंडा बाजार में मुर्गी बेचते हैं, अल्ताफ बन गया था जमीन कारोबारी

अरगाेड़ा अंचल के हुंडरू माैजा के खाता नंबर 280 और प्लाॅट नंबर 506 की 1.25 एकड़ जमीन की एक 25 डिसमिल के टुकड़े के विवाद में बुधवार काे दिनदहाड़े जमीन कारोबारी अल्ताफ आलम की गाेली मारकर हत्या कर दी गई। दरअसल, अल्ताफ आलम की हत्या जिस जमीन काे लेकर हुए विवाद के बाद हुई, वह जमीन लाल प्रवीर नाथ शाहदेव की है। जमीन के अधिकतर हिस्से पर कब्जा हाे चुका है। करीब 25 डिसमिल जमीन खाली है, जिसकी कीमत लगभग 3 कराेड़ रुपए बताई जा रही है।

लाल प्रवीर नाथ शाहदेव ने यही 25 डिसमिल जमीन बेचने के लिए पार्षद पति रिजवान (हत्या का आरोपी) के साथ पिछले वर्ष एग्रीमेंट किया था, जिस पर अल्ताफ आलम (जिसकी हत्या हुई) अपने सहयोगी साेनू कुरैशी के साथ मिलकर कब्जा कर रहा था। हालांकि, अल्ताफ ने 1 जुलाई काे थाना काे दिए आवेदन में कहा है कि उक्त जमीन काे उसने 5 माह पहले खरीदी है, इसलिए जमीन पर कब्जा कर रहा है। कब्जा को लेकर दाेनाें के बीच झगड़ा हुआ और दाेनाें ने डोरंडा थाना में आवेदन देकर एक-दूसरे पर रंगदारी मांगने और गाेली चलाने का आराेप लगाया। जबकि, जमीन विक्रेता लाल प्रवीर नाथ शाहदेव का कहना है कि मैंने रिजवान के साथ एग्रीमेंट किया था, लेकिन अल्ताफ का सहयोगी साेनू कुरैशी जमीन पर जबरन कब्जा कर रहा था।

इन किरदाराें की मदद से सुलझ सकती है अल्ताफ की हत्या की गुत्थी

जमीन मालिक

लाल प्रवीर नाथ शाहदेव- इनकी ही जमीन को लेकर अल्ताफ और रिजवान में विवाद था।

जमीन कारोबारी

रिजवान- मृतक के परिजनों का आरोप है कि रिजवान ने ही अल्ताफ की हत्या करवाई है।

रिजवान का साथी

अली खान- रिजवान के साथ रहता है। अल्ताफ के परिजन बोले कि हत्या में ये भी शामिल है।

अल्ताफ का साथी

सन्नी उर्फ तन्ना भाई- यह अल्ताफ का दोस्त है, जो घटना के वक्त अल्ताफ के साथ कार में था।

जमीन कारोबारी

अल्ताफ- जिसकी 25 डिसमील जमीन विवाद को लेकर बुधवार को हिनू में हत्या की गई।

पत्नी व बच्चों के साथ नगड़ी में जाकर रहने लगा था अल्ताफ

अल्ताफ पहले रहमत कॉलोनी में ही रहता था। फिलहाल पत्नी व बच्चे के साथ नगड़ी में रहने लगा था। उसके पिता मो. नासिर अंसारी और छोटा भाई मुख्तार अंसारी डोरंडा बाजार में मुर्गी बेचता है। अल्ताफ कारोबारी बन गया था।

डाेरंडा थानेदार भी सवालों के घेरे में... जमीन विक्रेता ने कहा- कब्जा की शिकायत की ताे थानेदार ने गाली देकर भगाया

इस जमीन के काराेबार में डोरंडा थानेदार की भूमिका पर सवाल खड़े हाे रहे हैं। जमीन विक्रेता लाल प्रवीर नाथ शाहदेव ने बताया कि 7 मई काे डोरंडा थाना में मैंने आवेदन दिया था कि मेरी जमीन पर साेनू कुरैशी सहित पांच-छह असमाजिक तत्व के लाेग अवैध कब्जा कर रहे हैं। राेकने पर जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। इसलिए, उचित कार्रवाई करते हुए अवैध कब्जा काे राेका जाए। अगर, पुलिस कार्रवाई नहीं करती है ताे मुझे स्वयं जाकर कब्जा राेकना पड़ेगा। इस दाैरान विधि-व्यवस्था भंग हाेती है और कुछ अनहोनी हाेती है ताे इसकी पूरी जिम्मेदारी पुलिस की हाेगी। इसके बावजूद पुलिस ने काेई कार्रवाई नहीं की। थानेदार से मैं मिलने गया ताे गाली-गलाैज करके भगा दिया। इसके बाद एसएसपी काे भी पत्र लिखकर जान-माल की सुरक्षा की गुहार लगाई थी।

खबरें और भी हैं...