पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छापेमारी:भास्कर टीम के साथ गए एसडीओ से 400 रुपए के ऑक्सीमीटर का 2500 मांगा, एक हिरासत में

रांची5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एनएस इंटरप्राइजेज, मेडिसिन प्लस, जय हिंद, आजाद और ब्रदर्स फार्मा को भेजा नोटिस
  • बड़ी चुनौती- अब दुकानदार परिचितों को ही दे रहे सामान और दवाइयां, बाकी को लौटाया

राजधानी में कोरोना बेकाबू हो चुका है। तमाम प्रशासनिक कोशिशें और दावे लोगों को राहत नहीं दे पा रहे हैं। मेडिकल स्टोर संचालक इस आपदा में मरीज के परिजनों को लूट रहे हैं। कोरोना संक्रमित के परिजनों को बाजार में ऑक्सीमीटर, सर्जिकल मास्क, पीपीई किट, स्टीम इन्हेलर सहित जरूरी दवाइयां सभी मेडिकल स्टोर पर नहीं मिल रही है। चुनिंदा स्टॉकिस्ट और रिटेलर के पास ये उपलब्ध हैं, लेकिन चार से पांच गुणा अधिक कीमत वसूली जा रही है, जिसे रोकने में विभाग फेल है।

श्रद्धानंद रोड में गुरुवार को ऑक्सीमीटर, पीपीई किट और दवाईयां अधिक कीमत पर बेचने की शिकायत पर सदर एसडीओ उत्कर्ष गुप्ता टीम के साथ छापेमारी करने पहुंचे। उन्होंने चार दुकानों की जांच की। एसडीओ जहां छापेमारी कर रहे थे, वहां से 10 कदम आगे स्थित एनएस इंटरप्राइजेज दुकान का दैनिक भास्कर के रिपोर्टर ने स्टिंग किया। रिपोर्टर ने दुकानदार से ऑक्सीमीटर मांगा, तो उसने काले रंग के बैग से निकाल कर दिया। जिस ऑक्सीमीटर की कीमत 400 रुपए है, उसके लिए दुकानदार ने 2500 रुपए मांगे। जब तीन ऑक्सीमीटर मांगा गया, तो दुकानदार ने 7500 रुपए का बिल बनाया। इसके बाद रिपोर्टर, एसडीओ को ग्राहक बनाकर अपने साथ ले गया। रिपोर्टर ने एसडीओ के सामने ही दुकानदार से ऑक्सीमीटर मांगा तो उसने 2500 रुपए ही मांगें। एसडीओ ने मौके पर मौजूद दुकानदार को हिरासत में लेने का आदेश दे दिया। दूसरी ओर, वहीं, कालाबाजारी के मामले में प्रशासन ने जय हिंद, आजाद व ब्रदर्स फार्मा, मेडिसिन प्लस, एनएस इंटरप्राइजेज (सभी रिटेल) दुकानदारों को नोटिस भेजा है। 24 घंटे के अंदर अपना पक्ष रखने के लिए कहा गया है।

खबरें और भी हैं...