BSF के हथियार नक्सलियों तक पहुंचे:बिहार, महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान और मध्यप्रदेश में झारखंड ATS के छापे, हेड कॉन्स्टेबल समेत 5 अरेस्ट

रांची7 दिन पहले

देश की सीमाओं की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार BSF में हथियारों के तस्करों ने सेंध लगा दी है। झारखंड पुलिस के एंटी टेररिज्म स्क्वॉड (ATS) ने BSF के जवानों की मदद से नक्सलियों और गैंगस्टरों को हथियारों की सप्लाई करने के इस खेल का भंडाफोड़ किया है।

झारखंड ATS ने पांच राज्यों बिहार, महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान और मध्य प्रदेश में अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी कर 5 तस्कर अरेस्ट किए हैं। इनमें पंजाब के फिरोजपुर की BSF-116 बटालियन का हेड कॉन्स्टेबल कार्तिक बेहरा भी शामिल है। इसके अलावा बिहार के सारण से BSF-114 बटालियन से स्वैच्छिक सेवानिवृति लेने वाला अरुण कुमार सिंह, MP से कुमार गुरलाल ओचवारे, शिवलाल धवन सिंह चौहान, हिरला गुमान सिंह ओचवारे शामिल हैं। अरुण ही इस गिरोह का मास्टरमाइंड है।

9 हजार कारतूस बरामद, अब तक 9 गिरफ्तार

झारखंड ATS के SP प्रशांत आनंद और IG अभियान एवी होमकर ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले की जानकारी दी। गिरफ्तार लोगों के पास से 9 हजार राउंड से ज्यादा कारतूस, 14 हाई टेक पिस्टल, 21 मैगजीन सहित कई चीजें बरामद की गई हैं। इस पूरे अभियान में अब तक कुल 9 लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है। इनमें BSF का एक जवान और एक रिटायर्ड जवान भी शामिल है।

तस्करों के पास से बरामद किए गए हथियार।
तस्करों के पास से बरामद किए गए हथियार।

MP और महाराष्ट्र के बॉर्डर पर पूरा सेटअप
IG अभियान एवी होमकर ने बताया कि इनके नेक्सस का मुख्य केंद्र MP और महाराष्ट्र को जोड़ने वाला बॉर्डर है। महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले और एमपी के बुरहानपुर जिले में इनका पूरा सेटअप है। यहां हथियार बनाने की फैक्ट्री भी लगा रखी थी। आरोपी यहां हथियार तैयार कर अपने नेटवर्क के माध्यम से अलग-अलग जगहों पर सप्लाई कर रहे थे।

देशभर में हथियारों की सप्लाई
IG होमकर ने कहा कि यह गिरोह झारखंड सहित पूरे देश में नक्सलियों और संगठित अपराधियों को हथियार की सप्लाई करता था। ATS के एसपी प्रशांत आनंद ने बताया कि इस गिरोह का किंगपिन BSF की 116 बटालियन से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले चुका अरुण कुमार है। एटीएस की टीम ने उसकी निशानदेही पर ही अलग-अलग जगहों से लोगों की गिरफ्तारी की है।

अन्य एजेंसियों ने भी शुरू की कार्रवाई
IG ने बताया कि इस गिरोह से कई और लिंक मिले हैं। इनके आधार पर देश की दूसरी सुरक्षा एजेंसियां कई ठिकानों पर छापेमारी कर रही हैं। इस पूरे अभियान का नेतृत्व एएसपी कपिल चौधरी कर रहे थे।

CRPF जवान, नक्सलियों को सप्लाई करता था हथियार:झारखंड ATS ने तीन को किया गिरफ्तार, सभी बिहार के; 450 राउंड गोली भी बरामद

हथियार तस्कर निकला BSF का रिटायर्ड जवान:झारखंड के बाद पटना से सटे सोनपुर में बड़ी कार्रवाई, ज्वाइंट ऑपरेशन में 919 गोलियों के साथ गिरफ्तार

खबरें और भी हैं...